विंडीज के दिग्‍गज गेंदबाज माइकल होल्डिंग इन दिनों पाकिस्‍तान में हैं और वो वहां चल रही पाकिस्‍तान-श्रीलंका सीरीज के दौरान कमेंट्री कर रहे हैं। अपने ताजा बयान में होल्डिंग ने कहा कि कुछ देशों के साथ ऐसा कलंक जुड़ा हुआ है जिसके कारण दुनिया भर के देश वहां जाकर खेलने से दूरी बनाए हुए हैं।

पढ़ें:- लड़कियों की क्रिकेट अकादमी ना होने पर ‘लड़का बनकर’ खेली भारतीय महिला टीम की यह खिलाड़ी

अपनेे इस कथन को साबित करने के लिए होल्डिंग ने साल 2005 में लंदन में हुए आतंकी हमलों का जिक्र भी किया।होल्डिंग ने कहा, “7/7 बम धमाकों के दौरान ऑस्‍ट्रेलिया की टीम इंग्‍लैंड में थी, लेकिन इसके बावजूद भी मेहमान टीम सीरीज बीच में ही छोड़कर वापस अपने देश नहीं गई। आपको पता होगा कि कुछ देशों के साथ ऐसा कलंक जुड़ा हुआ है।”

होल्डिंग ने आगे कहा, “जरूरी यह है कि आप इस कलंक से बाहर निकलने के रास्‍ते ढूंढ़े। आपको यह साबित करना होगा कि यहां सब कुछ ठीक है। जब श्रीलंका की टीम यहां पाकिस्‍तान में है ततो आपकों यह दिखाना होगा कि यहां स‍ब कुछ ठीक ठाक है। मुझे विश्‍वास है कि इस तरह बाकी टीमें भी पाकिस्‍तान आकर खेलने को तैयार हो जाएंगी।”

बता दें कि साल 2009 में पाकिस्‍तान की टीम पर श्रीलंका दौरे के दौरान आतंकी हमला हुआ था। इस हमले के बाद से ही पिछले 10 सालों से पाकिस्‍तान में अंतरराष्‍ट्रीय क्रिकेट बुरी तरह से प्रभावित है।

पढ़ें:- इंग्लैंड के इस दिग्गज ऑल राउंडर ने जीता पीसीए के ‘वर्ष के सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी’ का अवार्ड

पाकिस्‍तान क्रिकेट बोर्ड अबतक केवल वेस्‍टइंडीज और जिम्‍बाब्‍वे की टीमाें को ही अपने देश में क्रिकेट खेलने के लिए बुलाने में कामयाब हो पाया है।

पाकिस्‍तान दौरे पर गई श्रीलंका की मौजूदा टीम में भी लसिथ मलिंगा, एंजेलो मैथ्‍यूज, दिमुथ करुणारत्‍ने जैसे प्रमुख 10 खिलाड़ी नदारद हैं। पाकिस्‍तान में सुरक्षा को लेकर श्रीलंका क्रिकेट के लाख आश्‍वासन के बावजूद भी यह खिलाड़ी वहां जाने के लिए तैयार नहीं हुए।