साल 2018-19 सीजन में ऑस्ट्रेलियाई जमीन पर टीम इंडिया को मिली ऐतिहासिक जीत के बाद फैंस को इंतजार था 2020-21 में भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच होने वाली उस टेस्ट सीरीज का, जिसमें कंगारू टीम के स्टार बल्लेबाज स्टीव स्मिथ (Steve Smith) और डेविड वार्नर (David Warner) भी हिस्सा लेते। दरअसल बॉल टैंपरिंग मामले में लगे बैन के चलते ये दो दिग्गज पिछली सीरीज में हिस्सा नहीं ले सके थे जो कि मेजबान टीम की हार की सबसे बड़ी वजह थी। Also Read - इरफान पठान की मदद से आईपीएल तक पहुंचा जम्मू-कश्मीर का क्रिकेटर टूर्नामेंट स्थगित होने से नाखुश

हालांकि कोविड-19 महामारी की वजह से लागू किए गए लॉकडाउन की वजह से भारत-ऑस्ट्रेलिया के बीच होने वाली ये सीरीज खतरे में हैं। ऐसे में क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया बीसीसीआई से मिलकर इस सीरीज को सफलतापूर्वक आयोजित करने के विकल्पों पर चर्चा कर रही है, जिनमें से एक विकल्प है अलग-अलग वेन्यू के बजाय पूरी सीरीज को एक ही स्टेडियम में आयोजित करना। ऑस्ट्रेलियाई टीम के उप कप्तान ट्रेविस हेड (Travid Head) इस विचार से सहमत हैं। Also Read - बीसीसीआई को भरोसा, भारत से टी20 विश्व कप की मेजबानी छीनकर 'आत्महत्या' नहीं करेगी ICC

कंगारू बल्लेबाज हेड ने दक्षिण ऑस्ट्रेलिया क्रिकेट एसोसिएशन के एडिलेड ओवल मैदान में भारत-ऑस्ट्रेलिया टेस्ट सीरीज का आयोजन कराए जाने का समर्थन किया है। Also Read - अक्टूबर-नवंबर में ही खेला जाएगा IPL; 2022 तक स्थगित हो सकता है टी20 विश्व कप

दक्षिण ऑस्ट्रेलियाई टीम के कप्तान ने कहा, “अगर बात वहां तक आती है तो मुझे लगता है कि मैं लगातार मैचों के दबाव को झेल सकूंगा। हमने ऐसा समय देखा है, जहां ए-लीग मैच, रग्बी मैच या कॉन्सर्ट्स लगातार हुए हैं..पिच क्यूरेटर विकेट तैयार करने और उसे खेल के एक या दो दिन पहले पिच पर ड्रॉप करने में सफल रहे हैं। और बतौर खिलाड़ी आप इस पर ध्यान भी नहीं दे पाते हैं।”

तय शेड्यूल के मुताबिक भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच होने वाली चार मैचों की ये सीरीज साल के आखिर में (दिसंबर-जनवरी) आयोजित होगी। इस दौरे पर टीम इंडिया को तीन वनडे मैच भी खेलने हैं।