पाकिस्तान की सीमित ओवरों की टीम के कप्तान बाबर आजम (Babar Azam) को लगता है कि खाली स्टेडियमों में बिना दर्शकों के खेलकर ऐसा लगेगा जैसे प्रथम श्रेणी मैच में खेल रहे हों। उन्होंने कहा कि शुरुआत में हर किसी के लिए इससे सामंजस्य बैठाना मुश्किल होगा।Also Read - Omicron variant new strain: इंदौर में ओमीक्रोन वैरियंट के नए स्ट्रेन BA.2 के कई मामल मिले, 6 बच्चे भी आए चपेट में

अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट समिति (ICC) ने हाल ही में कोविड-19 के बाद खेल के दोबारा शुरू करने संबंधी कुछ गाइडलाइंस जारी की हैं। आईसीसी ने गेंद को चमकाने के लिए सलाइवा के इस्तेमाल पर बैन लगा दिया है और मैचों को खाली स्टेडियम में बिना दर्शकों के कराने को कहा है। Also Read - West Bengal: स्कूल-कॉलेजों को खोलने की मांग, कहा- जब शराब की दुकानें खुल सकती हैं तो कोरोना नियमों के साथ शिक्षण संस्थान क्यों नहीं?

बाबर आजम (Babar Azam) ने क्रिकबज से कहा, “यह काफी मुश्किल होगा। दर्शक दिर्घा में कोई नहीं होगा तो ऐसा लगेगा कि हम प्रथम श्रेणी मैच खेल रहे हैं। आप आईसीसी की गाइडलाइंस के मुताबिक गेंद को चमका नहीं सकते।” Also Read - Delhi, Mumbai में घटी कोरोना की रफ्तार, कर्नाटक में बड़ी संख्‍या में आए केस, देखें अपने राज्य का अपडेट

दाएं हाथ के इस बल्लेबाज ने कहा, “जब स्टैंड में दर्शक होते हैं तो क्रिकेट खेलने में मजा आता है लेकिन उनके बिना काफी मुश्किल होगी। जब बच्चे मैच देखने आते हैं तो वह इस स्तर पर खेलने के लिए प्रेरित होते हैं। मैं आश्वस्त हूं कि हम यह सभी चीज मिस करेंगे।”