पाकिस्तान की सीमित ओवरों की टीम के कप्तान बाबर आजम (Babar Azam) को लगता है कि खाली स्टेडियमों में बिना दर्शकों के खेलकर ऐसा लगेगा जैसे प्रथम श्रेणी मैच में खेल रहे हों। उन्होंने कहा कि शुरुआत में हर किसी के लिए इससे सामंजस्य बैठाना मुश्किल होगा। Also Read - ENG vs WI, 1st Test: 143 साल के क्रिकेट इतिहास में पहली पर होगा बिना दर्शकों के टेस्‍ट

अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट समिति (ICC) ने हाल ही में कोविड-19 के बाद खेल के दोबारा शुरू करने संबंधी कुछ गाइडलाइंस जारी की हैं। आईसीसी ने गेंद को चमकाने के लिए सलाइवा के इस्तेमाल पर बैन लगा दिया है और मैचों को खाली स्टेडियम में बिना दर्शकों के कराने को कहा है। Also Read - IPL 2020 का दूसरे देश में होना लगभग तय, BCCI अध्यक्ष सौरव गांगुली के इस बयान से हुआ साफ

बाबर आजम (Babar Azam) ने क्रिकबज से कहा, “यह काफी मुश्किल होगा। दर्शक दिर्घा में कोई नहीं होगा तो ऐसा लगेगा कि हम प्रथम श्रेणी मैच खेल रहे हैं। आप आईसीसी की गाइडलाइंस के मुताबिक गेंद को चमका नहीं सकते।” Also Read - Coronavirus In India Update: देश में संक्रमितों की संख्या 7 लाख के पार, कुल 20 हजार से अधिक लोगों की मौत

दाएं हाथ के इस बल्लेबाज ने कहा, “जब स्टैंड में दर्शक होते हैं तो क्रिकेट खेलने में मजा आता है लेकिन उनके बिना काफी मुश्किल होगी। जब बच्चे मैच देखने आते हैं तो वह इस स्तर पर खेलने के लिए प्रेरित होते हैं। मैं आश्वस्त हूं कि हम यह सभी चीज मिस करेंगे।”