गोल्ड कोस्ट (आस्ट्रेलिया). भारत के पुरुष पहलवान बजरंग पुनिया ने शानदार प्रदर्शन करते हुए यहां जारी 21वें राष्ट्रमंडल खेलों में नौवें दिन शुक्रवार को भारत की झोली में 17वां स्वर्ण पदक डाला. बजरंग ने पुरुषों की 65 किलोग्राम वर्ग स्पर्धा के फाइनल में वेल्स के केन चारिग को मात देकर सोना जीता. यह उनके राष्ट्रमंडल खेलों का पहला स्वर्ण पदक है. इसके साथ ही भारत के पदकों की संख्या 36 हो गई है. इसमें 17 गोल्ड, 8 सिल्वर और 11 ब्रॉन्ज है.Also Read - Tokyo Paralympics 2020: PM मोदी ने गोल्‍ड मेडल विजेता कृष्णा नागर को दी बधाई, पिता बोले- सपना पूरा हुआ

Also Read - Tokyo Paralympics: भारत को 4 मेडल म‍िले, अवनि लेखरा ने गोल्‍ड, योगेश कठुनिया और देवेंद्र झाझरिया ने सिल्वर, सुंदर सिंह गुर्जर ने कांस्‍य जीता

बजरंग ने रियो ओलम्पिक के कांस्य पदक विजेता चारिग को 10-1 से मात दी. उन्होंने पहले ही दौर में जीत हासिल कर ली. भारतीय पहलवान ने शुरुआत से ही अपने प्रतिद्वंद्वी चारिग पर शिकंजा कसना शुरू कर दिया. उन्होंने चारिग को हाथों से जकड़कर पटका और दो अंक लिए. इसी अवस्था में उन्होंने वेल्स के पहलवान को रोल कर दो अंक और लेते हुए 4-0 की बढ़त बना ली. Also Read - फिलहाल खेल पर ध्यान देना चाहता हूं, बायोपिक के लिए वक्त नहीं : नीरज चोपड़ा

इसी शैली और तरीके से बजरंग ने चार अंक और लिए. अंत में बजरंग ने चारिग को चित करते हुए 10 अंक हासिल कर सोना जीता. इस बीच चारिग केवल एक अंक ही ले पाए. साल 2014 में बजरंग ने ग्लास्गो में आयोजित राष्ट्रमंडल खेलों में 61 किलोग्राम वर्ग में स्पर्धा करते हुए रजत जीता था और इस बार वह इन खेलों में अपने पदक के रंग को बदलने में कामयाब रहे.