ढाका: सटोरिये के पेशकश की जानकारी नहीं देने पर बांग्लादेश के टेस्ट और टी20 कप्तान शाकिब अल हसन पर अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद ने दो साल का प्रतिबंध लगा दिया है जिससे वह तीन नवंबर से शुरू हो रहे भारत दौरे पर नहीं आ सकेंगे. शाकिब पर एक साल का पूर्ण प्रतिबंध और 12 महीने की अवधि का निलंबित प्रतिबंध लगाया गया है. आईसीसी के निर्देशों पर उन्हें टीम के अभ्यास से भी दूर रखा गया. भारत के खिलाफ श्रृंखला में तीन टी20 और दो टेस्ट खेले जाने हैं.

शाकिब ने आईसीसी की विज्ञप्ति में कहा, ‘‘जिस खेल से मुझे प्यार है, उससे निलंबत किये जाने से मैं काफी दुखी हूं लेकिन मैं अपनी सजा स्वीकार करता हूं. आईसीसी की भ्रष्टाचार निरोधक ईकाई भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ाई में खिलाड़ियों पर काफी निर्भर है. मैने सटोरिये की पेशकश की जानकारी नहीं देकर अपनी जिम्मेदारी नहीं निभाई.’’

International Cricket Council (ICC): Bangladesh captain and world No.1 ODI all-rounder Shakib Al Hasan has been banned for two years (one of those suspended), for failing to report corrupt approaches on numerous occasions. pic.twitter.com/hbN6w0N5op

वह अगले साल इंडियन प्रीमियर लीग और आस्ट्रेलिया में 18 अक्टूबर से 15 नवंबर 2020 तक होने वाले टी20 विश्व कप में नहीं खेल सकेंगे. दो साल पहले एक सटोरिये ने शाकिब को अंतरराष्ट्रीय मैच से पहले पेशकश की थी जिसकी जानकारी उसने आईसीसी की भ्रष्टाचार निरोधक और सुरक्षा ईकाई को नहीं दी. शाकिब की गैर मौजूदगी में मुशफिकर रहीम टेस्ट में और महमूदुल्लाह रियाद मुसद्दक टी20 में टीम की कप्तानी कर सकते हैं.

शाकिब ने हाल ही में खिलाड़ियों की हड़ताल की अगुवाई की थी लेकिन बीसीबी द्वारा उनकी मांगों को मान लिये जाने के बाद हड़ताल वापिस ले ली गई. बांग्लादेश के सर्वश्रेष्ठ क्रिकेटरों में शुमार शाकिब ने तीनों प्रारूप में कुल 11000 से अधिक रन बनाये हैं और 500 से ज्यादा विकेट लिये हैं.

 

(इनपुट भाषा)