बांग्लादेश क्रिकेट बोर्ड पाकिस्तान के खिलाफ आगामी टेस्ट मैच के बाद कप्तान महमूदुल्लाह (Mahmudullah) को स्क्वाड से बाहर करने पर विचार कर रहा है। क्रिकबज में छपी खबर के मुताबिक इस फैसले के पीछे बांग्लादेश के कोच रसेल डोमिंगो का दिमाग है।

टीम मैनेजमेंट और कोच 34 साल के महमूदुल्लाह को इस बात का एहसास दिलाना चाहते है कि टेस्ट स्क्वाड में उनकी जगह पक्की नहीं है। दरअसल महमूदुल्लाह का हालिया प्रदर्शन खास नहीं रहा है। मध्यक्रम में बल्लेबाजी करते हुए उन्होंने पिछली 12 पारियों में 32.45 की औसत से 357 रन ही बनाए हैं, जिसमें केवल एक शतक और एक अर्धशतक ही शामिल है।

राहुल की शानदार फॉर्म को देख धवन बोले-केएल 12वें नंबर पर भी उतरकर सेंचुरी जड़ सकते हैं

महमुदुल्लाह टेस्ट के अलावा बांग्लादेश की टी20 टीम के कप्तान भी हैं। बोर्ड चाहता है कि वो अपना पूरा ध्यान सीमित ओवर फॉर्मेट में ही लगाएं। हालांकि सवाल ये है कि महमुदुल्लाह को टेस्ट टीम से हटाए जाने के बाद किस खिलाड़ी को कप्तान बनाया जाएगा।

पाकिस्तान के खिलाफ दो मैचों की टेस्ट सीरीज का पहला मैच (7-11 फरवरी) खेलने के बाद बांग्लादेश टीम को 22 फरवरी से जिम्बाब्वे के खिलाफ एक टेस्ट मैच खेलना है। रिपोर्ट के मुताबिक महमूदुल्लाह इस मैच का हिस्सा नहीं होंगे।

महमूदुल्लाह को जिम्बाब्वे के खिलाफ टेस्ट मैच से बाहर किए जाने की स्थिति में कप्तानी सीनियर खिलाड़ी मुशफिकुर रहीम को दी जा सकती है, जो कि निजी कारणों की वजह से पाकिस्तान दौरे पर नहीं आए। लेकिन फिर सवाल ये उठता है कि क्या पाकिस्तान में होने वाले दूसरे टेस्ट (3-5 अप्रैल) में किसे कप्तानी सौंपी जाएगी क्योंकि रहीम ने पाकिस्तान जाने से साफ इंकार कर चुके हैं।