नई दिल्ली. न्यूजीलैंड के खिलाफ तीसरे टेस्ट से पहले बांग्लादेश की क्रिकेट टीम दहशत में है. दरअसल, क्राइस्टचर्च के मस्जिद अल नूर में जब बांग्लादेश की क्रिकेट टीम के कुछ सदस्य जुमा की नमाज अदा करने जा रहे थे तभी वहां कुछ बंदूकधारियों ने हमला कर दिया और ताबड़तोड़ फायरिंग शुरू कर दी. गनीमत ये रही कि बांग्लादेशी क्रिकेटर जुमे की नमाज के लिए मस्जिद के अंदर नहीं घुसे क्योंकि उन्हें एंट्री गेट पर ही इस हमले की सूचना मिल गई. मस्जिद के अंदर फायरिंग की खबर से बांग्लादेशी क्रिकेटर काफी घबरा गए, जिसके बाद वो अपने टीम बस के अंदर जाकर लेट गए. कुछ मिनट बस में लेटे रहने के बाद वो सभी हुगली पार्क की ओर भागे.

बता दें कि मस्जिद में हुई फायरिंग की घटना में कई लोगों के घायल और कईयों के मारे जाने की खबर है. न्यूजीलैंड पुलिस के मुताबिक हमलावर अब भी सक्रिय हैं मतलब ये कि खतरा अभी भी टला नहीं है.

दहशत में बांग्लादेशी टीम

इस घटना के बाद बांग्लादेश क्रिकेट टीम के मैनेजर खालिद मसूद लगातार न्यूजीलैंड और बांग्लादेश क्रिकेट बोर्ड के साथ टच में हैं. बता दें कि बांग्लादेश और न्यूजीलैंड के बीच टेस्ट सीरीज का तीसरा और आखिरी मैच शनिवार से क्राइस्टचर्च में ही खेला जाना है. लेकिन फायरिंग की घटना के बाद बांग्लादेशी क्रिकेटर दहशत में हैं और मैदान पर पसीना बहाने के बजाए टीम होटल के अंदर मौजूद है.