भारत के खिलाफ नवंबर से शुरू हो रही टी20 सीरीज से पहले बांग्लादेशी खिलाड़ी हड़ताल पर जा सकते हैं। ईएसपीएनक्रिकइंफो में छपी खबर के मुताबिक बांग्लादेश के शीर्ष क्रिकेटरों के प्रेस कॉन्फ्रेंस आयोजित करने की उम्मीद है, जहां वो बांग्लादेश क्रिकेट बोर्ड के साथ अपनी समस्याओं को लेकर बात करेंगे।

खिलाड़ियों की नाराजी बोर्ड के उस फैसले के बाद बढ़ी जिसमें टीम के फ्रैंचाइज़ी आधारित मॉडल को छोड़ने का फैसला किया गया था। इसका मतलब था कि औसत पेशेवर क्रिकेटर की कमाई बेहद कम हो गई है। बीसीबी द्वारा इस महीने के शुरू में हुई प्रथम श्रेणी की प्रतियोगिता में मैच फीस नहीं बढ़ाने के बाद खिलाड़ियों की परेशानी और बढ़ गई। ये नियम ढाका प्रीमियर लीग में भी लागू हुआ, जबकि पहले ये खिलाड़ियों के लिए क्लब-टू-क्लब ट्रांसफर मार्केट था।

शाकिब अल हसन उन शीर्ष बांग्लादेशी खिलाड़ियों में से हैं जो बोर्ड के खिलाफ आवाज उठा रहे हैं। हालिया बयान में शाकिब ने कहा था कि देश के खिलाड़ियों को दबाया जा रहा है और बोर्ड को उनके प्रति बेहतर बर्ताव करना चाहिए।

162 रन पर ऑलआउट हुआ साउथ अफ्रीका, भारत ने दिया फॉलोऑन

शाकिब ने डेलीस्टार अखबार को दिए एक इंटरव्यू में कहा था कि, “दरअसल, हम जिस सीरीज में खेल रहे होते हैं, उसी पर ध्यान लगाते हैं लेकिन विश्व कप जैसे टूर्नामेंट के लिए 6-8 महीने पहले से तैयारी करना अच्छा रहता है। उसके अलावा हम केवल एक समय पर एक सीरीज पर ध्यान देते हैं। लोग हमने सारी सीरीज जीतने की उम्मीद करते हैं। हम पेड़ लगाते हैं और फिर अगल दिन उसके फल खाते है। इस वजह से दूरगामी योजना बनाना जरूरी है। हमारे देश के क्रिकेट का ध्यान रखने वालों को उसमें अहम भूमिका निभानी होती है।”

तीन मैचों की टेस्ट और टी20 सीरीज के लिए बांग्लादेश का भारत दौरा तीन नवंबर से शुरू होना है।