नई दिल्ली. वेस्टइंडीज के खिलाफ एंटीगा टेस्ट में शर्मनाक प्रदर्शन के बाद बांग्लादेश की टीम कटघरे में है. कैरेबियाई दौरे पर टेस्ट सीरीज के पहले ही मैच की पहली ही पारी में बांग्लादेश ने जो खेल दिखाया है, वो अब टेस्ट क्रिकेट इतिहास के उन पन्नों में दर्ज हो चुका है, जिसे शायद फिर वो पलटना नहीं चाहेगा. एंटीगा में खेले जा रहे सीरीज के पहले टेस्ट की पहली पारी में बांग्लादेश की पूरी टीम मेजबान वेस्टइंडीज के सामने सिर्फ 43 रन पर ढह गई. उसके 10 में से 9 बल्लेबाजों के लिए दहाई के आंकड़े को छूना मुश्किल हो गया. 4 बल्लेबाज खाता तक नहीं खोल पाए. बड़ी बात ये है कि ये सबकुछ सिर्फ 99 मिनट और 18.4 ओवर के खेल में हुआ. यानी बांग्लादेश ने एक सेशन तो दूर अपने अपने 10 विकेट कैरेबियाई गेंदबाजों को सौंपने के लिए सिर्फ आधे सेशन का वक्त लिया. Also Read - भारत के साथ हमारा खून का रिश्ता है, यह ऐतिहासिक और चट्टान की तरह मजबूत है: बांग्लादेश

बांग्लादेश का बेड़ा गर्क! Also Read - बांग्लादेश की बूढ़ी गंगा नदी में 100 लोगों से भरी नाव-जहाज की टक्‍कर, 32 की मौत, कई लापता

एंटीगा की पिच पर बांग्लादेश की हुई इस बेइज्जती का अब जरा असर देखिए . 43 रन टेस्ट क्रिकेट में बांग्लादेश का सबसे कम स्कोर है. वहीं टेस्ट क्रिकेट के इतिहास की 8वीं सबसे छोटी जबकि संयुक्त तौर पर 10वां सबसे लोएस्ट टोटल है. ये वेस्टइंडीज के खिलाफ किसी भी टीम का एक पारी में सबसे कम स्कोर है. 43 रन बनाकर बांग्लादेशी टीम कैरेबियाई सरजमीं पर सबसे कम स्कोर बनाने वाली टीम का तमगा भी हासिल कर चुकी है. Also Read - कोरोना वायरस से संक्रमित हुआ ये बांग्लादेशी बल्लेबाज; खुद को सेल्फ आइसोलेट किया

21वीं सदी का सबसे छोटा स्कोर

टेस्ट क्रिकेट के इतिहास में वैसे तो 44 साल बाद इतने कम रन का टोटल स्कोर बोर्ड पर लगा है. भारत ने साल 1974 में लॉर्ड्स के मैदान पर 42 रन बनाए थे. बांग्लादेश के बनाए 43 रन टेस्ट क्रिकेट में 21वीं सदी का सबसे छोटा स्कोर है. इस मामले में बांग्लादेश ने न्यूजीलैंड के 45 रन का रिकॉर्ड तोड़ा है.

मैच भी जाएगी, रैंकिंग भी!

ICC टेस्ट रैंकिंग में बांग्लादेश फिलहाल वेस्टइंडीज से ऊपर है. लेकिन एंटीगा टेस्ट में उसने जो अपने खेल की शर्मनाक नुमाईश की है उसके बाद न सिर्फ उसकी हार बल्कि उसका रैंकिंग में नीचे लुढ़कना भी तय है.