BAN vs AFG : क्रिकेट के मैदान पर अफगानिस्तान की टीम को अभी ज्यादा दिन नहीं हुए हैं, लेकिन टीम के खेल को देख कर कहा जा सकता है कि आने वाले दिनों में किसी भी बड़ी टीम को टक्कर देने का दम रखती है. एकदिवसीय मैच और वनडे मैंचों में अपना लोहा मनवा चुकी अफगानी टीम अब टेस्ट मैच में भी अपने जलवे बिखर रही है. क्रिकेट इतिहास में अपना तीसरा टेस्ट क्रिकेट खेल रही अफगानिस्तान की टीम ने चटगांव टेस्ट में पहले शानदार बल्लेबाजी की और फिर धारदार गेंदबाजी के दम पर बांग्लादेश पर 137 रन की बढ़त बना ली है. अफगानिस्ता की इस बढ़त में बल्लेबाज रहमत शाह और राशिद खान का अहम योगदान रहा.

यार्कर मैन मलिंगा के दम पर श्रीलंका ने आखिरी टी-20 मैच में न्यूजीलैंड को धूल चटाई

चटगांव में बांग्लादेश के खिलाफ खेले जा रहे टेस्ट मैच में टेस्ट क्रिकेट के सबसे युवा कप्तान राशिद ने पहले तो बल्लेबाजी से सबका दिल जीता और इसके बाद अपनी स्पिन गेंदबाजी से बांग्लादेशी खिलाड़ी को पिच पर टिकने नहीं दिया. रहमत शाह ने जहां एक ओर 102 रन की शतकीय पारी खेली वहीं राशिद खान ने 61 गेंद में 51 रन की ताबड़तोड़ पारी खेली इसके अलावा असगर अफगान ने 92 रन और अपसर जजाई ने 41 रन का योगदान दिया. बांग्लादेश की तरफ से तैजुल इस्लाम ने चार विकेट झटके जबकि शाकिब अल हसन और नईम हसन ने दो-दो विकेट लिए.

Caribbean Premier League 2019: जानें पूरा शेड्यूल, टीमों के स्क्वाड, कब, कहां और कैसे देखें लाइव स्ट्रीमिंग

लक्ष्य का पीछा करने उतरे बांग्लादेश की शुरुआत काफी खराब रही और पारी के पहले ओवर में ही टीम ने शादमान इस्लाम का विकेट खो दिया. इसके बाद सौम्य सरकार के रूप में टीम को दूसरा झटका लगा. सौम्य ने 17 रन बनाए. बांग्लादेश की तरफ से मोमिनुल हक ने 52 रन की सर्वाधिक पारी खेली. मोमिनुल के अलावा कोई भी बल्लेबाज ज्यादा देर तक अफगानिस्तान गेंदबाजों के सामने नहीं टिक सका.

बांग्लादेश की टीम को धराशाही करने में फिरकी गेंदबाज राशिद खान का अहम रोल रहा उन्होंने बांग्लादेश के पांच बल्लेबाज को पवेलियन भेजा. दूसरे दिन बांग्लादेश की पूरी टीम 342 के जवाब में 205 रन पर ही सिमट गई. इस तरह अफगानिस्तान ने 137 रन की बढ़त बना ली है. आपको बता दें कि राशिद खान टेस्ट क्रिकेट में सबसे कम उम्र के कप्तान हैं इससे पहले यह रिकॉर्ड जिम्बांबे के तेतेंदा टाइबू के पास था.