बांग्लादेश ने ढाका में खेले जा रहे पहले टेस्ट के चौथे दिन बुधवार को ऑस्ट्रेलिया को 20 रन से हराकर इतिहास रच दिया है. ये बांग्लादेश की ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ पहली टेस्ट जीत है. बांग्लादेश से जीत के लिए मिले 265 रन के जवाब में ऑस्ट्रेलियाई टीम अपनी दूसरी पारी में महज 244 रन पर सिमट गई.Also Read - OMAN vs BAN, T20 World Cup 2021: आखिरकार बांग्लादेश ने खोला जीत का खाता, कप्तान Mahmudullah ने बताई सुधार की जरूरत

बांग्लादेश के लिए ऑलराउंडर शाकिब अल हसन ने यादगार प्रदर्शन करते हुए दोनों पारियों में 5-5 विकेट झटकते हुए मैच में 10 विकेट लिए और साथ ही पहली पारी में 84 रन की जोरदार पारी भी खेली. दुनिया के नंबर एक ऑलराउंडर शाकिब को उनके इस यादगार प्रदर्शन के लिए मैन ऑफ द मैच घोषित किया गया. शाकिब के अलावा दूसरी पारी में बांग्लादेश के लिए तैजुल इस्लाम ने 3 और मेहदी हसन ने 2 विकेट झटके. जीत के लिए मिले 265 रन के टारगेट के जवाब में ऑस्ट्रेलिया के लिए डेविड वॉर्नर ने सबसे अधिक 112 रन बनाए जबकि उनके अलावा स्टीवन स्मिथ ने 37 और पैट कमिंस ने 33 रन की पारी खेली. Also Read - T20 World Cup 2021, BAN vs SCO: Shakib Al Hasan ने रच दिया इतिहास, T20I में सर्वाधिक विकेट झटकने वाले गेंदबाज

शाकिब अल हसन ने मेैच में 10 विकेट झटकते हुए बांग्लादेश को यादगार जीत दिलाई (Getty)

शाकिब अल हसन ने मेैच में 10 विकेट झटकते हुए बांग्लादेश को यादगार जीत दिलाई (Getty)

चौथे दिन अपने स्कोर 2 विकेट पर 109 रन से आगे खेलने उतरी ऑस्ट्रेलियाई टीम 244 रन पर ही सिमट गई. लंच से पहले शाकिब की कहर बरपाती गेंदबाजी की बदौलत बांग्लादेश ने महज 90 रन में ऑस्ट्रेलिया के 5 विकेट गिरा दिए. इस दौरान डेविड वॉर्नर ने शानदार शतक ठोका. लेकिन शाकिब की कहर बरपाती गेंदबाजी के आगे वह ऑस्ट्रेलिया को हार से नहीं बचा सके. निचले क्रम में ऑस्ट्रेलिया के लिए पैट कमिंस ने 3 छक्कों की मदद से 55 गेंदों में 33 रन की नाबाद पारी खेलते हुए ऑस्ट्रेलिया को जीत के करीब पहुंचा दिया. लेकिन उनकी ये कोशिश दूसरे तरफ से गिरते विकेटों की वजह से नाकाम रही. Also Read - चौथा खिताब जीतने के बाद बोले कोच फ्लेमिंग- खिलाड़ियों की उम्र पर सवाल उठे लेकिन हमारे लिए अनुभव बेहद अहम

बांग्लादेश ने अपनी पहली पारी में 260 रन बनाने के बाद ऑस्ट्रेलिया को 217 रन पर समेट दिया था. इसके बाद बांग्लादेश ने अपनी दूसरी पारी में 221 रन बनाते हुए ऑस्ट्रेलिया को जीत के लिए 265 रन का टारगेट दिया था.