नई दिल्ली : बांग्लादेश क्रिकेट टीम ने आयरलैंड में आयोजित त्रिकोणीय सीरीज के फाइनल में वेस्टइंडीज को 5 विकेट से पराजित किया. वर्षा से बाधित फाइनल मुकाबले में वेस्टइंडीज ने शाई होप (74) और सुनील अंबरीश (69) की शानदार बल्लेबाजी की बदौलत 24 ओवर में एक विकेट के नुकसान पर 152 रन बनाए. डकवर्थ लुईस नियम के कारण बांग्लादेश को जीत के लिए 210 रन का लक्ष्य मिला. जिसे उसने सौम्य सरकार (66) और मोसद्दिक हुसैन की 24 गेंद पर 52 रन की धमाकेदार पारी की बदौलत सात गेंद रहते हासिल कर लिया.

बांग्लादेश की किसी टूर्नामेंट के फाइनल मुकाबले में अब तक की यह पहली जीत है. टॉस हारकर पहले बल्लेबाजी करने उतरी वेस्टइंडीज ने बेहतरीन बल्लेबाजी की. होप ने अंबरीश के साथ मिलकर पहले विकेट के लिए 144 रन जोड़े.

वेस्टइंडीज ने 24 ओवर की पारी में केवल एक विकेट गंवाया. होप ने 64 गेंद में 74 रन की पारी खेली, उन्होंने छह चौके और तीन छक्के जड़े. अंबरीश 78 गेंद में 69 रन बनाकर नाबाद रहे. उन्होंने अपनी पारी में कुल सात चौके लगाए. डैरेने ब्रावो तीन रन बनाकर नाबाद रहे. इसके बाद, डकवर्थ लुईस नियम के तहत बांग्लादेश को जीत के लिए 24 ओवर में 210 रन का लक्ष्य मिला जिसका पीछा करते हुए उसकी शुरुआत सामान्य रही.

सरफराज ने पाकिस्तान की खराब फील्डिंग को ठहराया हार का जिम्मेदार

बांग्लादेश ने 59 के स्कोर पर अपना पहला विकेट खोया. सलामी बल्लेबज तमीम इकबाल 18 रन की पारी खेलने के बाद गेब्रियल की गेंद पर कैच देकर पवेलियन लौट गए. सब्बीर रहमान को भी गैब्रियल ने अपना शिकार बनाया. वो अपना खाता भी नहीं खोल सके. इसके बाद, सौम्य सरकार (66) और मुश्फिकुर रहीम ने पारी को संभाला और टीम के स्कोर को 100 रन के पार पहुंचाया. 109 के कुल योग पर सरकार आउट हो गए. रहीम भी 22 गेंद पर 36 रन की पारी खेलकर पवेलियन लौट गए.

रणजी मैचों में बदल सकता है DRS का नियम, BCCI की बैठक में हुई चर्चा

बांग्लादेश ने 143 के कुल योग पर मोहम्मद मिथुन के रूप में पांचवां विकेट गंवाया. अनुभवी मोहम्मदुल्लाह (19) ने हालांकि, मोसद्दिक हुसैन (52) के साथ मिलकर अपनी टीम की लड़खड़ाती पारी को संभाला और सात गेंद रहते ही बांग्लादेश को जीत दिला दी. हुसैन को उनकी शानदार पारी के लिए मैन ऑफ द मैच घोषित किया गया. शेनोन गेब्रियल और रेयमोन रेफर को दो-दो विकेट मिले. फेबियन एलन ने एक विकेट चटकाया.