नई दिल्ली: रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर और सनराइजर्स हैदराबाद के बीच गुरुवार को खेले गए मैच में आरसीबी के गेंदबाज बसील थम्पी के नाम एक बेहद खराब रिकॉर्ड दर्ज हुआ. थम्पी का आईपीएल 2018 में यह चौथा मैच था. उनके इस खराब रिकॉर्ड का खामियाजा हैदराबाद को भुगतना पड़ा. इस मैच में टीम को 14 रन से हार का सामना करना पड़ा. उन्होंने यह खराब प्रदर्शन करके श्रीनाथ अरविंद का रिकॉर्ड तोड़ दिया. इस लिस्ट में ईशांत शर्मा भी शामिल हैं. Also Read - RCB vs SRH: कौन है देवदत्‍त पडीक्‍कल जिसने डेब्‍यू IPL मैच में ही जड़ दिया धमाकेदार अर्धशतक

Also Read - HIGHLIGHTS, RCB vs SRH: चहल की फिरकी में फंसा हैदराबाद, बैंगलोर ने 10 रन से जीता मैच

दरअसल इस मुकाबले में आरसीबी ने टॉस हारकर पहले बल्लेबाजी करते हुए 20 ओवर में 6 विकेट खोकर 218 रन बनाए. इस दौरान हैदराबाद के गेंदबाज बसील थम्पी ने 4 ओवर में 70 रन दे दिए. उनके इस घटिया प्रदर्शन ने श्रीनाथ अरविंद का रिकॉर्ड तोड़ दिया. बतौर भारतीय गेंदबाज आईपीएल में सबसे ज्यादा रन देने के मामले में उनसे पहले अरविंद ने 2011 में एक मैच में 69 रन दिए थे. इस लिस्ट में ईशांत शर्मा भी शामिल हैं. ईशांत ने 2013 में 66 रन दिए थे. Also Read - India Railway: बेंगलुरु-दिल्ली के बीच 19 सितंबर से चलेगी किसान रेल, जानें किन-किन राज्यों से कब गुजरेगी

RCB की जीत में चमका यह खिलाड़ी, विराट कोहली हुए फैन

गौरतलब है कि थम्पी ने आईपीएल में अपना पहला मैच 2017 में गुजरात लायंस की ओर से खेला था. उस सीजन में थम्पी ने 12 मैच खेलते हुए 11 विकेट हासिल किए थे. इस दौरान उनका सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन 3 विकेट लेकर 29 रहा था. थम्पी को आईपीएल 2018 में ज्यादा मैचों में मौका नहीं मिल पाया. उन्होंने इस सीजन अब तक 4 मैच खेले हैं, जिनमें 5 विकेट हासिल किये हैं.

कोटला में जीते तो चेन्नई को होगा बड़ा फायदा, दिल्ली के पास साख बचाने की चुनौती

बता दें कि इस मैच में आरसीबी ने हैदराबाद को 14 रन से हराया. आरसीबी के दिए लक्ष्य का पीछा करते हुए हैदराबाद के खिलाड़ी 20 ओवर में 3 विकेट खोकर 204 रन ही बना पाए. हैदराबाद को इस हार से कोई विशेष फर्क नहीं पड़ा है, क्यों कि वह प्लेऑफ में पहुंच चुकी है. लेकिन आरसीबी को इस जीत से फायदा हुआ है. उसके प्लेऑफ में पहुंचने की उम्मीद बरकरार है. आरसीबी ने पॉइंट टेबल में 12 पॉइंट्स के साथ पांचवें स्थान पर है. उसने अब तक 13 मैच खेले हैं. इस दौरान टीम ने 6 मैचों में जीत हासिल की है, जबकि 7 मैचों में हार का सामना किया है.