बांग्लादेश के पाकिस्तान दौरे का मामला एक बार फिर विवादों में आया जब पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड की तरफ से बयान आया कि बांग्लादेश क्रिकेट बोर्ड ने उनसे एक मैच पाकिस्तान और एक मैच बांग्लादेश में कराने की मांग की है, जिसे उन्होंने ठुकराया दिया है। लेकिन ये बीसीबी ने रविवार को जारी किए बयान में कहा कि उन्होंने पीसीबी के सामने इस तरह का कोई प्रस्ताव नहीं रखा।

बीसीबी के सीईओ निजामुद्दीन चौधरी ने शेर-ए-बांग्ला स्टेडियम में मीडिया को संबोधिक करते हुए कहा, “मुझे इस तरह के किसी भी प्रस्ताव की जानकारी नहीं है। हम अब भी अपने पहले फैसले पर टिके हैं। हमने पाकिस्तान में टी20 सीरीज खेलने के लिए हां कहा था, लेकिन सरकार से मंजूरी मिलने के बाद। टी20 सीरीज के बाद हम स्थिति का जायजा लेंगे कि हम पाकिस्तान में टेस्ट सीरीज खेल सकते हैं या नहीं।”

बता दें कि पाकिस्तान और बांग्लादेश के बीच होने वाली ये सीरीज आईसीसी टेस्ट चैंपियनशिप का हिस्सा है। जिस वजह से पीसीबी इस मुद्दे को लेकर अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट काउंसिल के पास जा सकता है। लेकिन बीसीबी प्रेसिडेंट नजमुल हसन का कहना है कि वो इसे लेकर चिंतित नहीं है।

एक टेस्ट मैच पाकिस्तान और दूसरा ढाका में खेलने को तैयार नहीं है PCB

हसन ने कहा, “हम (पाकिस्तान के मामले को को आईसीसी बैठक में उठाने) इसे लेकर चिंता नहीं कर रहे हैं। फैसला हमारा है। ये फैसला हमें करना है कि हमें पाकिस्तान जाना है या नहीं। हमने ये नहीं कहा कि हम नहीं जाएंगे। चूंकि ये सालों बाद पाकिस्तान का हमारा पहला दौरा है, हमें थोड़ा डर है। हम किसी को भी पाकिस्तान का दौरा करने के लिए मजबूर नहीं करना चाहते हैं।”

उन्होंने कहा, “पाकिस्तान का दौरा निश्चित करने से पहले हम कई समस्याओं से जूझ रहे हैं। कई सारे जोखिम हैं। हमें पूरी सीरीज के लिए पाकिस्तान जाने से पहले हर किसी के मत का सम्मान करना होगा। फिलहाल, मुझे नहीं लगता कि हमारे टेस्ट सीरीज के लिए पाकिस्तान दौरा करने की संभावना है।”