नई दिल्ली. टीम इंडिया का अगला विदेशी दौरा ऑस्ट्रेलिया का है. वेस्टइंडीज के साथ घरेलू सीरीज के खत्म होते ही इस दौरे के लिए भारतीय टीम कूच कर जाएगी. ये दौरा 2 महीने लंबा होगा. सूत्रों के मुताबिक, इस दौरे से पहले BCCI ने क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया के सामने ये डिमांड रखी है कि वो इस टूर पर कभी भी टीम इंडिया के खाने में बीफ न परोसे. Also Read - क्‍या बिना दर्शक IPL के खिलाफ हैं विराट कोहली, बोले- स्‍टेडियम की असली ताकत होते हैं वहां मौजूद फैन्‍स

क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया से BCCI की मांग Also Read - इस्‍कॉन मंदिर के साथ मिलकर सौरव गांगुली ने किया 10 हजार अतिरिक्‍त लोगों के खाने का इंतजाम

BCCI की ओर से क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया से भारतीय टीम के खाने में बीफ न परोसे जाने की मांग उस समूह की ओर से की गई है जो वहां दौरे के वेन्यू का मुआयना करने गए हैं. एक अंग्रेजी अखबार में छपी रिपोर्ट के मुताबिक, BCCI के 2 सदस्य जो वेन्यू का मुआयना करने गए हैं उन्होंने क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया से मेन्यू में बीफ न रखने की भी मांग की है. Also Read - कोविड-19 महामारी के चलते कट सकती है भारतीय क्रिकेटरों की सैलरी

वर्ल्ड क्रिकेट नहीं देखा होगा ऐसा बॉलिंग एक्शन वाला गेंदबाज, ‘दबे पांव’ देता है बल्लेबाजों को दगा

BCCI के एक ऑफिशिएल ने नाम न लेने की शर्त पर बताया कि भारतीय खिलाड़ियों की हमेशा शिकायत रहती है कि ऑस्ट्रेलिया में उन्हें बेस्वाद खाना परोसा जाता है. उन्होंने कहा, ” टीम इंडिया के कई खिलाड़ी वेजिटेरियन हैं, जिन्हें ऐसी सूरत में खासी दिक्कत महसूस होती है.” वेन्यू का मुआयना करने ऑस्ट्रेलिया गई BCCI की टीम ने वहां के भारतीय रेस्टोरेंट में भारतीय खिलाड़ियों के लिए इंडियन करी सप्लाई करने की भी मांग रखी.

क्यों करनी पर बीफ हटाने की मांग?

भारतीय क्रिकेट बोर्ड को क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया से खाने में बीफ न रखने की मांग क्यों करनी पड़ी अब जरा वो समझिए. दरअसल, इससे पहले भारत के इंग्लैंड दौरे पर भारतीय खिलाड़ियों को खाने में बीफ परोसी गई थी. इंग्लैंड में टीम इंडिया के खाने के मेन्यू की तस्वीर को जब BCCI ने अपने ट्विटर पर पोस्ट किया तो उसे लेकर काफी बवाल मचा था.

ऑस्ट्रेलिया दौरे पर भारत को 3 T20, 4 टेस्ट और 3 वनडे की सीरीज खेलनी है. ये दौरा 21 नवंबर से शुरू होकर 18 जनवरी तक चलेगा.