पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (PCB) के सीईओ वसीम खान ने आईसीसी को पत्र लिखकर इस आश्वासन की मांग की है जि पाकिस्तान टीम जब टी-20 विश्व कप-2021 और वनडे विश्व कप-2023 के लिए भारत जाएगी तो उन्हें वीजा को लेकर किसी तरह की परेशानी नहीं होगी। अब भारतीय क्रिकेट बोर्ड (BCCI) ने इस पर जवाब दिया है, बोर्ड की ओर से ये कहा गया है कि भारतीय बोर्ड से आश्वसान मांगने से पहले वह लिखित में यह गारंटी दें कि सीमा पर कोई शत्रुतापूर्ण कार्रवाई नहीं होगी। Also Read - India vs New Zealand WTC Final: भारतीय टीम के खिलाफ चीजों को संतुलित रख खुश हैं काइल जेमीसन

बीसीसीआई के एक अधिकारी ने आईएएनएस से कहा, “क्या पीसीबी इस बात की लिखित गारंटी दे सकती है कि पाकिस्तान सरकार इस बात को सुनिश्चित करेगी कि पाकिस्तान की तरफ से सीमा पर किसी तरह की घुसपैठ नहीं होगी और सीज फायर का उल्लंघन नहीं होगा, भारत की जमीन पर किसी तरह की आतंकी गतिविधियां नहीं होंगी, पुलवामा की तरह की घटनाएं दोबारा नहीं होंगी?” Also Read - IND vs NZ, ICC World Test Championship Final 2021: विराट कोहली ने रच डाला इतिहास, ICC के सभी ईवेंट का फाइनल खेलने वाले दुनिया के एकमात्र क्रिकेटर

उन्होंने कहा, “आईसीसी का नियम है कि क्रिकेट बोर्ड के कामकाज में सरकार का दखल ना हो और ये स्वाभाविक है कि खेल बोर्ड भी सरकार के काम में दखल नहीं दें। ये पीसीबी को समझना चाहिए और आईसीसी में एक ऐसे संघ के तौर पर नजर आना बंद करना चाहिए जो भारत के खिलाफ काम करता है। मैं सिर्फ इतना कह सकता हूं कि भारत एक शानदार देश हैं और सर्वाधिक संतुलित तरीके से काम करता है।” Also Read - India vs New Zealand: साउथम्पटन में बंद नहीं हुई बारिश तो छह दिन तक खिंच सकता है WTC फाइनल

वसीम ने यूट्यूब चैनल क्रिकेटबाज को दिए इंटरव्यू में कहा, “हम इस बात को जानते हैं कि आईसीसी टी-20 विश्व कप-2021 और वनडे विश्व कप-2023 भारत में होने हैं और हमने आईसीसी से कह दिया है कि वह हमें बीसीसीआई से लिखित में आश्वासन दे कि हमें वीजा संबंधी परेशानी नहीं आएगी।”

उन्होंने कहा कि अलग-अलग खेलों की पाकिस्तान टीमों को भारत सरकार की तरफ से हाल के दिनों में वीजा नहीं दिया गया है। इसलिए हम ये आश्वासन चाहते हैं। हालांकि वसीम के बयान में ज्यादा दम नहीं है क्योंकि भारत सरकार ने कई राष्ट्रों के टूर्नामेंट में अलग-अलग देशों के खिलाड़ियों को वीजा देने के मुद्दे को 2019 में ही सुलझा लिया था।