भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) के मुख्य कार्यकारी अधिकारी राहुल जौहरी (Rahul Johri) का इस्तीफा लंबे समय बाद स्वीकार कर लिया गया है. बोर्ड के आला अधिकारियों ने इस मामले में चुप्पी साध रखी है लेकिन एक सीनियर अधिकारी ने पीटीआई को बताया कि इस्तीफा स्वीकार करने का फैसला किया गया है. Also Read - PCA ने युवराज सिंह से संन्यास से वापस आने और टीम का मेंटर बनने का किया अनुरोध, जानिए पूरी डिटेल

जौहरी ने 27 दिसंबर को इस्तीफा दिया था. लेकिन, तब बोर्ड ने इसे मंजूर नहीं किया था और उन्हें इस साल 30 अप्रैल तक एक्सटेंशन दिया था. लेकिन गुरुवार को अचानक उनका इस्तीफा मंजूर कर लिया गया. यह अब तक साफ नहीं हो पाया कि बोर्ड ने अचानक कैसे उनका इस्तीफा मंजूर कर लिया. Also Read - 'इंटरनेशनल लेफ्ट हैंडर्स डे' पर बाएं हाथ के टॉप-10 दिग्गज बल्लेबाजों को सलाम

राहुल जौहरी साल 2016 में भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड से जुड़े थे. टीम इंडिया के पूर्व कप्तान सौरव गांगुली के बोर्ड अध्यक्ष बनने के बाद उन्होंने त्यागपत्र दे दिया था. Also Read - अगर भारत नहीं कर सका मेजबानी तो श्रीलंका या यूएई में होगा 2021 टी20 विश्व कप

फरवरी में भी  इस्तीफे की खबर थी

इससे पहले इस वर्ष फरवरी में भी उनके इस्तीफे की खबर थी, लेकिन उस समय आधिकारिक पुष्टि नहीं हुई थी. तब न तो बोर्ड और न ही जौहरी की तरफ से इस्तीफे को लेकर कोई बयान आया था. एक साल पहले जौहरी पर एक महिला ने यौन शोषण के आरोप लगाए थे. हालांकि बाद में जांच कमेटी ने  जौहरी को क्लीन चिट दे दी थी. जौहरी का बीसीसीआई सीईओ के तौर पर कार्यकाल फरवरी 2021 तक था.