भारतीय क्रिकेट टीम के नए कोच की नियुक्ति के लिए टीम और कप्तान विराट कोहली का फीडबैक लेने के लिए बीसीसीआई के मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) राहुल जौहरी जमैका में टीम इंडिया के खिलाड़ियों से मुलाकात करेंगे. Also Read - Ab de Villiers के इस 4-Point Message से वापस फॉर्म में लौटे Virat Kohli, भारतीय कप्‍तान ने मांगी थी मदद

इसके बारे में बीसीसीआई के एक अधिकारी ने कहा, ‘हां, राहुल प्रशासकों की समिति (सीओए) की अनुमति के साथ जमैका गए हैं. उन्हें कप्तान और टीम से फीडबैक लेने का काम सौंपा गया है. टीम से मिले फीडबैक को क्रिकेट सलाहकार समिति (सीएसी) को बताया जाएगा ताकि नए कोच के चयन में वे इन चीजों को ध्यान में रख सकें.’ Also Read - IPL 2021 RR vs DC Highlights in Hindi: क्रिस मॉरिस की धमाकेदार पारी के दम पर राजस्थान ने दिल्ली को हराया

माना जा रहा है कि बीसीसीआई और सीओए ने ये कदम टीम के विचारों को जानने की कोशिश के तहत उठाया है क्योंकि वे नई नियुक्ति में किसी तरह का मनमुटाव नहीं चाहते. कुछ दिन पहले कोहली ने कहा था कि वह तभी अपने विचार व्यक्त करेंगे जब बीसीसीआई इसके बारे में उनसे पूछेगा. Also Read - BCCI के सालाना कॉन्ट्रेक्ट की ए+ कैटेगरी में कोहली, रोहित और बुमराह को मिली जगह; पांडे-जाधव बाहर

कुछ दिन पहले कोहली ने कहा था, ‘बतौर टीम हम अपनी राय तभी व्यक्त करते हैं जब बीसीसीआई सुझाव मांगती है. हम हमेशा प्रक्रिया के हिसाब से चलते हैं और बतौर टीम इसका सम्मान करते हैं.’

हालांकि बीसीसीआई के इस कदम से अब सवाल उठ रहा है कि ऐसा करके क्या वह सचिन तेंदुलकर, सौरव गांगुली और वीवीएस लक्ष्मण की सीएसी पर कम भरोसा नहीं जता रही है, जिनके पास कोच चयन पर अंतिम मुहर लगाने का अधिकार है. कुछ लोगों का मानना है कि इससे रवि शास्त्री की दावेदारी मजबूत की जा रही है, जिन्हें कप्तान कोहली की पहली पसंद माना जाता है. हालांकि नए कोच का फैसला 10 जुलाई को सीएसी द्वारा लिए जाने वाले इंटरव्यू के बाद ही होगा.

वहीं इस सूत्र ने ये भी कहा कि पूर्व तेज गेंदबाज वेंकटेश प्रसाद ने कोच पद के लिए आवेदन नहीं किया है. सूत्र ने कहा, ‘वेंकटेश प्रसाद ने कोच पद के लिए आवेदन नहीं भरा है. वह जूनियर टीम के मुख्य चयनकर्ता के तौर पर काम कर रहे हैं. हम नहीं जानते कि ये अफवाहें कौन फैला रहा है. वेंकी ने कभी भी पुष्टि नहीं की कि उन्होंने इस पद के लिए आवेदन भरा है.