भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) ने कोरोना वायरस महामारी की वजह से अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट पर लगे ब्रेक से होने वाले आर्थिक नुकसान की भरपाई के लिए योजना बना ली है। बीसीसीआई के प्लान के मुताबिक लॉकडाउन की वजह से हुए नुकसान की भरपाई के लिए बाकी देशों को टीम इंडिया से साथ ज्यादा से ज्यादा मैच खेलने होंगे। Also Read - थूक के इस्‍तेमाल पर रोक से बिगड़ेगा गेंद-बल्‍ले का संतुलन, अनिल कुंबले का सुझाव, पिच में हो बदलाव

हिंदुस्तान टाइम्स में छपी खबर के मुताबिक बीसीसीआई से जुड़े अधिकारी ने बताया कि बोर्ड ने कोविड-19 महामारी से क्रिकेट को हुए नुकसान की भरपाई के लिए योजना बना ली है। उन्होंने कहा कि बोर्ड सेक्रेटरी जय शाह ने आईसीसी बैठक के दौरान कहा कि टीम इंडिया महामारी के खत्म होने के बाद छोटी टीमों के खिलाफ अधिक बाईलैटरल मैच खेलेगी। आईसीसी साल के आखिरी तक 2023-31 का शेड्यूल तैयार करेगी। Also Read - Pakistan Coronavirus Update: 24 घंटे में सबसे ज्यादा मामले आए सामने, संक्रमितों की संख्या 80 हजार के पार

बोर्ड अधिकारी ने कहा, “भारत पहले की सभी प्रतिबद्धताओं का सम्मान करेगा। क्या आईसीसी गंभीर है कि उसे अक्टूबर में विश्व कप के लिए आठ वेन्यू उपलब्ध होने की उम्मीद है? क्या सभी सरकारें एक 16 देशो के खेल आयोजन के लिए अपने खिलाड़ियों को यात्रा की अनुमति देंगी? क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया दिसंबर में भारत के खिलाफ होने वाले टेस्ट सीरीज को एक ही वेन्यू पर आयोजित करने का सोच रहा है। तो वो विश्व कप के लिए आठ वेन्यू कैसे उपलब्ध कराएंगे।” Also Read - पेसर मोहम्मद शमी बोले-हम अब भी सोचते हैं कि माही भाई आएंगे और...

भारतीय क्रिकेट टीम अगले 12 महीनों में चार देशों का दौरा करने वाली है। ये श्रीलंका में छह सीमित ओवरों के मैच, ऑस्ट्रेलिया में चार टेस्ट मैच, जिम्बाब्वे में तीन सीमित ओवरों के मैच और दक्षिण अफ्रीका में तीन T20I मैच खेलेगा। बीसीसीआई के अधिकारी ने कहा कि भारत इन सभी प्रतिबद्धताओं को पूरा करेगा, जिसमें ऑस्ट्रेलिया में अक्टूबर में होने वाला टी20 विश्व कप शामिल है।

भविष्य योजना के बारे में इस अधिकारी ने कहा, “हमें पता है कि भारत इतने कम समय में हर देश का दौरा नहीं कर पाएगा, लेकिन हमारे घरेलू सीजन कैलेंडर में कुछ मैच जोड़ना और दूसरे बोर्ड्स की मदद करना संभव है। भारत में आयोजित होने वाले अतिरिक्त मैचों से होने वाली आय का एक हिस्सा मेहमान टीम को दिया जा सकता है।”