भारतीय टीम के पूर्व सलामी बल्‍लेबाज और मौजूदा समय में पूर्वी दिल्‍ली से सांसद गौतम गंभीर को जल्‍द ही बीसीसीआई एक नई जिम्‍मेदारी देने जा रहा है. बीसीसीआई ने क्रिकेट सलाहकार कमेटी (CAC) के पैनल का हिस्‍सा करने के लिए गौतम गंभीर से संपर्क किया है.

सब कुछ ठीक ठाक रहा तो गंभीर के साथ-साथ पूर्व क्रिकेटर मदन लाल और पूर्व महिला क्रिकेटर सुलक्षणा नाईक भी इस कमेटी का हिस्‍सा बनने जा रहे हैं. सीएसी का काम भारतीय टीम के चयनकर्ताओं का चयन करना है.

पढ़ें:- बुमराह ने अवॉर्ड के साथ शेयर की फोटो, युवराज बोले- जस्‍सी तुमसे तुम्‍हारा अवॉर्ड…

मौजूदा समय में मुख्‍य चयनकर्ता एमएसके प्रसाद और चयन समिति में सदस्‍य गगन खोड़ा का कार्यकाल खत्‍म हो गया है. ऐसे में सीएसी को जल्‍द से जल्‍द भारतीय टीम के मुख्‍य चयनकर्ता और सदस्‍य का चुनाव करना है.

इससे पहले तक सचिन तेंदुलकर, सौरव गांगुली और वीवीएस लक्ष्‍मण सीएसी के सदस्‍य थे, लेकिन हितों के टकराव का मामला व सीएसी के कामकाज को लेकर स्थिति साफ नहीं होने के कारण इसे भंग कर दिया गया था.

पढ़ें:- रिटायरमेंट से वापसी के बाद ड्वेन ब्रावो फिर बने विंडीज स्‍क्‍वाड का हिस्‍सा, इस टीम के खिलाफ…

अब नए चयनकर्ताओं को चुनने के लिए जल्‍द से जल्‍द एक बार फिर सीएसी बनाए जाने की जरूरत है. बताया गया कि बीसीसीआई के अध्‍यक्ष सौरव गांगुली ने सीएसी का सदस्‍य बनने के लिए कई पूर्व खिलाड़ियों से संपर्क किया. अधिकांश ने हितों के टकराव को लेकर विवाद को देखते हुए इसका हिस्‍सा बनने से इनकार कर दिया.

इसी कड़ी में गंभीर, मदन लाल के अलावा पूर्व महिला क्रिकेटर सुलक्षणा नाईक से भी संपर्क किया गया था. तीनों ने सीएसी का हिस्‍सा बनने में दिलचस्‍पी दिखाई है.