दुनिया भर में तेजी से फैस रहे नोवेल कोरोना वायरस (COVID-19) के प्रभाव को मद्देनजर रखते हुए BCCI ने शनिवार को ईरानी कप समेत सभी बड़े घरेलू टूर्नामेंट को रोकने का फैसला किया। बता दें कि ईरानी कप हाल ही में बंगाल को हराकर पहली बार रणजी ट्रॉफी जीतने वाली सौराष्ट्र टीम और शेष भारत के बीच खेला जाना था। Also Read - कोविड-19 महामारी के केंद्र रहे चीन को एशियाई युवा खेल 2021 की मिली मेजबानी

बोर्ड के आधिकारिक बयान के मुताबिक ईरानी कप के सभी मैच, सीनियर महिला वन-डे नॉकआउट, विज्जी ट्रॉफी, सीनियर महिला वन-डे चैलेंजर, महिला अंडर 19 वनडे नॉकआउट, महिला अंडर 19 टी20 लीग, सुपर लीग और नॉकआउट, महिला अंडर 19 टी20 चैलेंजर ट्रॉफी, महिला अंडर 23 नॉकआउट, महिला अंडर 23 वनडे चैलेंजर को अगले नोटिस तक रोक दिया गया है। Also Read - कोविड-19 महामारी को लेकर शोएब अख्तर ने दिया बड़ा बयान, बोले- कंगाल करके छोड़ेगा कोराना

कोरोना वायरस का कहर केवल घरेलू क्रिकेट तक सीमित नहीं है, दुनिया भर के कई बड़े स्पोर्ट्स इवेंट्स इस खतरनाक वायरस की वजह से टाले जा चुके हैं। भारत में भी इसका असर दिख रहा है, कोरोना वायरस की वजह से ही भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच होने वाली तीन मैचों की वनडे सीरीज को रद्द कर दिया गया है। 12 मार्च को धर्मशाला में आयोजित हुआ सीरीज का पहला मैच बारिश की भेंट चढ़ गया, जिसके बाद बाकी दोनों ही मैचों में रद्द करने का फैसला लिया गया। Also Read - COVID-19: हॉकी इंडिया ने मदद को बढ़ाया हाथ, इतने लाख दान देने का किया ऐलान

Ranji Trophy 2019-20 FINAL : सौराष्ट्र पहली बार बना रणजी ट्रॉफी चैंपियन

इतना ही नहीं भारत की मशहूर इंडियन प्रीमियर लीग के 13वें सीजन को, जो कि 29 मार्च को शुरू होना था, उसे भी वायरस के खतरे की वजह से 15 अप्रैल तक के लिए स्थगित कर दिया गया है। शुरुआती शेड्यूल के मुताबिक ये टूर्नामेंट 29 मार्च से 24 मई तक खेला जाना था लेकिन फिलहाल के लिए इसे रोक दिया गया है।

बीसीसीआई अध्यक्ष सौरव गांगुली (Sourav Ganguly) के ताजा बयान के मुताबिक अगर आईपीएल का आयोजन होता है तो ये छोटा टूर्नामेंट होगा। यानि कि आम तौर पर 50-60 दिनों तक आयोजित होने वाले टूर्नामेंट का आयोजन 30-35 दिन या उससे कम में किया जा सकता है। हालांकि नए शेड्यूल को लेकर अभी तक कुछ तय नहीं किया गया है। उम्मीद है कि मार्च के खत्म होने से पहले इस बारे में कोई फैसला लिया सकेगा।