लॉकडाउन में दी जा रही रियायतों के बीच बीसीसीआई (BCCI) अब भारतीय क्रिकेटरों के लिए अगस्त-सितंबर के बीच कैम्प लगाने के बारे में सोच रही है। Also Read - सरकार ने होईकोर्ट को बताया, 'महाराष्ट्र में 13 हजार से अधिक कैदियों का कोविड-19 टीकाकरण किया गया'

बीसीसीआई के एक अधिकारी ने आईएएनएस से कहा कि बोर्ड खिलाड़ियों को मानसून के बाद मैदान पर लाने पर विचार कर रहा है ताकि वो घर में समय बिताने के बाद क्रिकेट गतिविधियों में वापस लौट सकें। Also Read - Coronavirus Delta Variant: डेल्टा स्वरूप के हावी होने की आशंका, 85 देशों में सामने आए मामले

उन्होंने कहा, “एक बार मानसून खत्म होने के बाद हम तैयारी करने पर विचार कर रहे हैं। अगस्त-सितंबर के बीच हम अपने खिलाड़ियों को एक साथ लाने और उनके खेल पर, उन्हें जोन में लाने के बारे में सोच रहे हैं। आपको समझना होगा कि मसल मेमौरी को तालमेल की जरूरत होती है और ये लोग पेशेवर हैं। इसलिए ये सबसे ज्यादा शारीरिक पक्ष की अपेक्षा मानसिक पहलू की बात है। ये लोग लॉकडाउन में भी अपनी फिटनेस पर काम कर रहे हैं।” Also Read - COVID19 Cases: डेल्‍टा की आशंका के बीच देश में कोरोना के 54,069 नए केस, 1321 मौतों, एक्‍ट‍िव मरीज 6.27 लाख

उनसे जब पूछा गया कि क्या राष्ट्रीय क्रिकेट अकादमी में कैम्प हो सकता है तो उन्होंने कहा, “ये कहना जल्दबाजी होगा। अंतर्राज्यीय यातायात में और छूट मिलने दीजिए। देखते हैं कि महीने के बाद किस तरह से चीजें होती हैं और इसके बाद हम फैसला लेंगे कि कैम्प एनसीए में होगा या नहीं।”