क्पूषर्व कप्तान और बीसीसीआई अध्यक्ष सौरव गांगुली (Sourav Ganguy) की अगुवाई में बोर्ड मौजूदा कोच रवि शास्त्री (Ravi Shastri) के कार्यकाल पूरा होने के बाद अनिल कुंबले (Anil Kumble) और वीवीएस लक्ष्मण (VVS Laxman) जैसे दिग्गज खिलाड़ियों को मुख्य कोच पद के लिए आवेदन करने को कह सकती है।Also Read - Rahul Dravid के कोच बनने पर Virat Kohli का बयान- कोई जानकारी नहीं क्या चल रहा है...

बता दें कि शास्त्री का कार्यकाल अक्टूबर-नवंबर में होने वाले टी20 विश्व कप के बाद खत्म हो रहा है। Also Read - T20 World Cup 2021: Virat Kohli ने तोड़ी चुप्पी, MS Dhoni के 'मेंटर' बनने पर कही ये बात

पूर्व स्पिन गेंदबाज कुंबले 2016-17 के बीच एक साल के लिए भारतीय टीम के कोच थे। उस समय सचिन तेंदुलकर, लक्ष्मण और गांगुली की अध्यक्षता वाली क्रिकेट सलाहकार समति ने उन्हें शास्त्री की जगह नियुक्त किया था। Also Read - टीम इंडिया के कोच पद के लिए राहुल द्रविड़ सर्वश्रेष्ठ उम्मीदवार: एमएसके प्रसाद

हालांकि, कप्तान विराट कोहली के साथ मतभेद के कारण कुंबले ने चैंपियंस ट्रॉफी के फाइनल में पाकिस्तान के खिलाफ हारने के बाद अपना इस्तीफा दे दिया था।

बीसीसीआई के एक वरिष्ठ सूत्र ने पीटीआई से बातचीत में बताया, ‘‘अनिल कुंबले के कोच पद छोड़ने को लेकर हुए विवाद में सुधार की जरूरत है। जिस तरह से सीओए ने कोहली के दबाव में आकर उन्हें हटाया वो नहीं था। हालांकि, ये इस बात पर भी निर्भर है कि क्या कुंबले और लक्ष्मण कोच के लिए आवेदन करने पर राजी होंगे।’’

कोहली ने हाल ही में ये घोषणा की है कि वो आगामी टी20 विश्व कप के बाद (जब शास्त्री का कार्यकाल भी खत्म हो रहा है) टी20 की कप्तानी से हट जाएंगे।

बीसीसीआई हमेशा ही अनुभवी भारतीय खिलाड़ियों को मुख्य कोच के पद के लिए प्राथमिकता देती है, ऐसे में कुंबले और लक्ष्मण उनके पैमाने पर खरे उतरते हैं। दोनों ही पूर्व खिलाड़ी भारत के लिए 100 से ज्यादा टेस्ट मैच खेल चुके हैं।

अधिकारी ने कहा, “बीसीसीआई के कोच पद के लिए मानदंड ऐसा होगा कि खिलाड़ी के रूप में बहुत अच्छा रिकॉर्ड होने के साथ-साथ कोचिंग/ मेंटरशिप के अनुभव वाले कुछ चुनिंदा लोग ही इसके लिए आवेदन कर सकते हैं।”

जब उनसे पूछा गया कि क्या विक्रम राठौर जो कि फिलहाल टीम इंडिया के बल्लेबाजी कोच हैं, मुख्य कोच पद के लिए आवेदन कर सकते हैं, तो अधिकारी ने जवाब दिया, “वो अगर चाहें तो आवेदन कर सकते हैं लेकिन उनके पास मुख्य कोच बनने के लिए जरूरी अनुभव नहीं है।”

उन्होंने आगे कहा, “वो सहायक कोच के लिए सर्वश्रेष्ठ हैं। हालांकि जब भी हम नया कोच चुनते हैं, उनकी अपनी अलग टीम में चुनी जाती है। इसलिए देखते हैं कि आगे क्या होता है।”