नई दिल्ली. पुलवामा हमले के बाद भारत ने पाकिस्तान की हर मोर्चे पर घेराबंदी शुरू कर दी है. ये कोशिश खेल जगत खासकर क्रिकेट में भी जारी है. भारत-पाक के बीच बाइलेटरल क्रिकेट सीरीज के दरवाजे तो पहले से ही बंद थे. अब भारतीय क्रिकेट बोर्ड पाकिस्तान को वर्ल्ड क्रिकेट से भी अलग-थलग कर देना चाहता है. अगर BCCI अपनी योजना में सफल रहा तो बहुत मुमकिन है कि आने वाले वर्ल्ड कप में पाकिस्तान भारत के साथ ही खेलता नहीं दिखेगा बल्कि पूरे टूर्नामेंट से उसका पत्ता साफ हो जाएगा. ऐसे में अगले 7 दिन बेहद अहम रहने वाले हैं. क्योंकि, अगले 7 दिन में भारतीय क्रिकेट बोर्ड का रूख ये साफ कर देगा कि वर्ल्ड कप में पाकिस्तान का फ्यूचर क्या होगा?

7 दिन में वर्ल्ड कप से बाहर होगा पाक!

अब जरा ये समझिए कि अगले 7 दिन में होगा क्या? पहले तो पाकिस्तान से क्रिकेट खेलने को लेकर 22 फरवरी को COA और BCCI, विदेश और गृह मंत्रालय के साथ मीटिंग करेगा और आगे करना क्या है उसे लेकर सलाह लेगा. इसके बाद BCCI और COA के सदस्य साथ में मिलकर पाकिस्तान से क्रिकेट खेलने के मामले में कोई बड़ा फैसला ले सकते हैं.

ICC मीटिंग का माहौल होगा गरम!

अपने रूख को लेकर BCCI और COA ने अब तक ICC को कुछ भी स्पष्ट नहीं किया है. लेकिन, इस बात की पूरी उम्मीद जताई जा रही है कि भारत का कदम पाकिस्तान को वर्ल्ड कप से बाहर करने को लेकर ICC पर दबाव बनाने का हो सकता है. अगर ऐसा हुआ तो 27 फरवरी से दुबई में शुरू होने वाली ICC मीटिंग का टेम्परेचर टाइट रहने वाला है.

सामने आएगा क्रिकेट का सबसे बड़ा विवाद

अब भारत के इस कदम पर ICC क्या फैसला करेगा ये गौर करने वाली बात होगी. लेकिन, ICC पर पाकिस्तान को वर्ल्ड कप से बाहर करने का दबाव बनाकर उसका क्रिकेट की सबसे बड़े विवाद को जन्म देना तय है. ये विवाद कुछ उसी तरह का होगा जैसे 1977 में केरी पेकर ने वर्ल्ड सीरीज के खिलाफ आवाज उठाकर की थी.