दुनिया के सबसे धनी बोर्ड को मुश्किल से मुश्किल परिस्थितियों में क्रिकेट का आयोजन करने के लिए जाना जाता है लेकिन कोरानावायरस रूपी महामारी ने बीसीसीआई को भी घुटने पर लगा दिया. बीसीसीआई को ना सिर्फ आईपीएल 2020 के आयोजन को स्‍थगित करना पड़ा बल्कि उसने सभी खिलाड़ियों को निर्देश जारी किए कि वो घर से बाहर ना निकलें. इसी बीच मुंबई में शार्दुल ठाकुर द्वारा फिर से आउटडोर ट्रेनिंग शुरू किए जाने से बीसीसीआई के अधिकारी खासे नाराज हैं.Also Read - मां के दूध से नहीं होता कोविड का संक्रमण, एक्सपर्ट्स ने बताया- गर्भवती और जच्चा बच्चा कैसे रहें सुरक्षित

शार्दुल ठाकुर बीसीसीआई के अनुबंध प्राप्‍त खिलाड़ियों की सूची में आते हैं. बीसीसीआई के अधिकारी ने न्‍यूज एजेंसी आईएएनएस से बातचीत में कहा कि यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि बोर्ड से मंजूरी लिए बिना शार्दुल ने ट्रेनिंग शुरू करने का फैसला किया. “उन्हें इसकी इजाजत नहीं दी गई है क्योंकि वह अनुबंधित खिलाड़ी हैं. दुर्भाग्यपूर्ण उन्होंने ऐसा किया, जोकि उन्हें नहीं करना चाहिए था. यह एक अच्छा कदम नहीं है.” Also Read - Pregnancy Tips: ओम‍िक्रोन के बढते खतरे के बीच क्‍या आप हो गई हैं प्रेग्‍नेंट, इन बातों का रखें खास ख्‍याल

ठाकुर के अलावा भारतीय टीम के कप्तान विराट कोहली, उपकप्तान रोहित शर्मा और श्रेयस अययर भी इस समय मुंबई में मौजूद हैं. लेकिन उनमें से किसी भी खिलाड़ी ने आउटडोर ट्रेनिंग शुरू करने का फैसला नहीं किया, क्योंकि उनका कहना है कि वे इस समय घरों में है और उन्होंने अब तक किसी स्पोटर्स कॉम्पलेक्स को नहीं छुआ है. Also Read - कब खत्म होगी कोरोना महामारी, क्या लोगों को हमेशा लगाना होगा मास्क? जानें अंतरराष्ट्रीय स्वास्थ्य विशेषज्ञों ने क्या कहा...

शार्दुल ठाकुर बीसीसीआई से अनुबंधित खिलाड़ी हैं और वह मौजूदा अनुबंध सूची के ग्रेड-सी का हिस्सा हैं. इससे भी ज्यादा अहम बात यह है कि उन्होंने एक ऐसे शहर में प्रशिक्षण किया है, जो इस समय देश में कोरोनावायरस की सबसे ज्यादा चपेट में है.

बोर्ड के सूत्रों ने कहा कि शार्दुल ने पालघर जिले में ट्रेनिंग शुरू किया है, जो रेड जोन में नहीं है. इसके बावजूद उनका यह कदम सही नहीं है क्योंकि उन्होंने इसके लिए बीसीसीआई से मंजूरी नहीं ली है.  bमीडिया में जारी खबरों में कहा गया है कि शार्दुल ने पालघर दाहानु तालुका खेल संघ ने बोइसर में नेट अभ्यास किया.