कोविड-19 वैश्विक महामारी के कारण इस समय क्रिकेट की लगभग सभी गतिविधियां ठप्प हैं. भारतीय क्रिकेट टीम को पूर्व निर्धारित समय के मुताबिक आगामी जुलाई के मध्य में श्रीलंका का दौरा करना है. इस दौरे को लेकर बीसीसीआई उलझन में है. श्रीलंका क्रिकेट (एसएलसी) ने बीसीसीआई से दौरा रद्द न करने की अपील की है और सीमित ओवरों की सीरीज के दौरे को बरकरार रखने को कहा है. भारतीय बोर्ड को हालांकि लगता है कि यह लगभग असंभव है. Also Read - MS Dhoni के संन्यास की अटकलों पर पत्नी साक्षी बोलीं, नहीं पता ये चीजें कहां से आती हैं

असंभव है श्रीलंका दौरा  Also Read - 'हिटमैन' रोहित शर्मा ने BCCI का जताया आभार, जानिए वजह

बीसीसीआई के एक अधिकारी ने आईएएनएस से कहा कि इसमें अभी भी हालांकि कुछ समय है लेकिन भारतीय टीम जुलाई में श्रीलंका का दौरा करे, यह लगभग असंभव सा लग रहा है. Also Read - विराट कोहली से नहीं डरता है ये पाकिस्तान तेज गेंदबाज; कहा- मुझे चुनौती पसंद

उन्होंने कहा, ‘मैं यह कहूंगा कि इस समय दौरे का होना लगभग असंभव लग रहा है. पहले तो हमें मौजूदा स्थिति को देखते हुए एक समय एक ही कदम उठाना होगा. आपको पता होगा कि इस समय हमारे कुछ खिलाड़ी मुंबई और बेंगलुरू में फंसे हुए हैं. यह दोनों जोन कोरोनावायरस से काफी प्रभावित हैं. क्या भारतीय टीम विराट कोहली और रोहित शर्मा के बिना दौरा करेगी, इस सवाल में जाने के बजाए मैं यह सवाल करूंगा कि क्या अंतर्राष्ट्रीय यातायात संभव हो सकेगा? इसलिए हमें इंतजार करने की नीति अपनानी होगी.’

‘बीसीसीआई अपनी सारी प्रतिबद्धताएं पूरी करने की कोशिश करेगी’

उन्होंने कहा, ‘लेकिन, सरकार जितनी शिद्दत से कोरोनावायरस से लड़ रही है, उसमें मुझे संदेह है कि हम जुलाई के मध्य में बाहर सफर करने की स्थिति में होंगे. बीसीसीआई निश्चित तौर पर अपनी सारी प्रतिबद्धताएं पूरी करने की कोशिश करेगी, अभी नहीं तो बाद में, जो दोनों बॉर्डर के लिए मुफीद रहेगा. लेकिन, मौजूदा स्थिति को देखते हुए सुरक्षा प्राथमिकता है. साथ ही रेड जोन से खिलाड़ियों को ग्रीन जोन में लाने की मंजूरी नहीं है. अगर सरकार निकट भविष्य में इसे मंजूरी देती है तो देखते हैं कि क्या होता है और क्या हम घरेलू क्रिकेट शूरू कर सकते हैं. इस समय घरेलू क्रिकेट पर ध्यान है.’

श्रीलंका के अखबार द आइसलैंड में छपी रिपोर्ट के मुताबिक श्रीलंका क्रिकेट ने बीसीसीआई से जुलाई के मध्य में होने वाले दौरे को रद्द न करने की अपील की है.