नई दिल्ली. टीवी चैट शो (कॉफी विद करण) पर विवादस्पद बयान देने के मामले में भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) के लोकपाल डी.के. जैन ने क्रिकेटर हार्दिक पांड्या (Hardik Pandya) और सलामी बल्लेबाज लोकेश राहुल (KL Rahul) को ड्यूटी पर शहीद हुए अर्धसैनिक बलों के 10 जवानों की विधवाओं को एक-एक लाख रुपए जुर्माने के रूप में देने का आदेश दिया है. लोकपाल ने जुर्माने की इस राशि के अलावा उन्हें ब्लाइंड क्रिकेट के प्रचार के लिए बनाए गए फंड में भी 10-10 लाख रुपए देने का आदेश दिया है.

BCCI के लोकपाल ने यह भी कहा है कि यदि दोनों खिलाड़ी आदेश जारी होने के चार सप्ताह के अंदर ऐसा करने में विफल रहते हैं, तो बीसीसीआई दोनों खिलाड़ियों की मैच फीस में से यह राशि काट सकता है. लोकपाल ने कहा कि इन दोनों खिलाड़ियों को आस्ट्रेलिया दौरे से वापस भेज दिया गया था और इससे वे पहले ही लगभग 30 लाख रुपए कमाने से चूक गए थे. लेकिन उन्होंने साथ ही यह भी कहा कि क्रिकेटर देश में रोल मॉडल हैं और उनका व्यवहार उन्हें मिले दर्जे के अनुरूप आदर्श होना चाहिए.

लोकपाल ने यह भी माना कि क्योंकि दोनों खिलाड़ियों ने अपनी इस हरकत के लिए माफी मांगी थी और अपने खिलाफ शुरू की गई कार्रवाई के खिलाफ कोई आपत्ति नहीं जताई थी. इसलिए अब इस फिर से इस बात की विशिष्ट जांच शुरू करना अनावश्यक हो जाता है कि खिलाड़ियों द्वारा चैट शो के दौरान की गई टिप्पणियां क्या नियम 41 (1) (सी) के तहत अनुशासनहीनता या नियमों का उल्लंघन है. स्पष्ट है कि राहुल और हार्दिक पर जुर्माना लगने के बाद यह मामला यहीं खत्म हो जाता है अब दोनों क्रिकेटर बढ़े हुए मनोबल के साथ पूरे जोश से विश्व कप के लिए 15 सदस्यीय भारतीय क्रिकेट टीम के साथ इंग्लैंड जाने के की तैयारी कर सकते हैं.