बीसीसीआई (BCCI) के नेशनल क्रिकेट अकादमी (NCA) में लंबी रीहैब के बावजूद केवल तीन टी20 मैच खेलने के बाद भुवनेश्वर कुमार (Bhuvneshwar Kumar) के चोट की वजह से वेस्टइंडीज के खिलाफ वनडे सीरीज से बाहर होने का मामला अब बोर्ड सेक्रेटरी जय शाह (Bhuvneshwar Kumar) तक पहुंच गया है। हाल ही में सेक्रेटरी पद पर नियुक्त हुए शाह ने एनसीए से इस तेज गेंदबाज के सभी मेडिकल रिकॉर्ड्स मांगे हैं।

टाइम्स ऑफ इंडिया में छपी खबर के मुताबिक एनसीए में हुए तीन स्कैन के बाद भी मेडिकल टीम भुवनेश्वर की चोट को नहीं पकड़ पाई थी। भुवनेश्वर को फिट घोषित कर वेस्टइंडीज के खिलाफ घरेलू टी20 सीरीज के दौरान उनकी टीम इंडिया में वापसी कराई गई थी। लेकिन केवल तीन मैचों के बाद ही साफ हो गया कि भुवी स्पोर्ट्स हार्निया से परेशान हैं, जिसके बाद उन्हें वनडे सीरीज से बाहर कर दिया गया।

इस सीनियर भारतीय गेंदबाज को हार्निया के लिए सर्जरी करवानी पड़ सकती है, जिसके बाद उनका अगले कुछ महीनों के लिए क्रिकेट के मैदान से दूर रहना तय है। जिससे भुवनेश्वर का ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ होने वाली सीरीज और फिर टी20 विश्व कप में खेलना भी अनिश्चित हो गया है।

भुवनेश्वर की चोट से सवालों के घेरे में आया NCA; बुमराह-पांड्या ने बैंगलोर जाने से मना किया

सूत्रों के मुताबिक सेक्रेटरी शाह मामले को लेकर काफी गंभीर हैं और जल्द से जल्द इसकी जड़ तक पहुंचना चाहते हैं। भुवनेश्वर के मामले के सामने आने के बाद ही ये खबर भी आई थी कि फिलहाल रिकवरी से गुजर रहे जसप्रीत बुमराह और हार्दिक पांड्या ने भी बैंगलोर जाने से मना कर दिया है।

बता दें कि ये पहला मौका नहीं है जब एनसीए के अंदर किसी खिलाड़ी की इंजरी को लेकर लापरवाही की गई है। विकेटकीपर बल्लेबाज ऋद्धिमान साहा के साथ भी कुछ ऐसा ही हुआ था। जिसके बाद बोर्ड को साहा की पूरी मेडिकल अपडेट सार्वजनिक करनी पड़ी थी।