नई दिल्ली: भारत के विकेटकीपर बल्लेबाज और इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) की टीम कोलकाता नाइट राइडर्स के कप्तान दिनेश कार्तिक को बीसीसीआई ने कारण बताओ नोटिस दिया है. बीसीसीआई ने कार्तिक को यह नोटिस कैरिबियन प्रीमियर लीग (सीपीएल) की टीम त्रिनबागो नाइट राइडर्स के ड्रेसिंग रूम में जाने के कारण दिया है. कार्तिक टीम के कोच ब्रैंडन मैक्कलम के साथ ड्रेसिंग रूम में थे. मैक्कलम को हाल ही में कोलकाता का भी कोच नियुक्त किया गया है.

BAN vs AFG : टेस्ट क्रिकेट के सबसे युवा कप्तान राशिद ने बल्ले के बाद दिखाया फिरकी का जादू, टीम को दिलाई बढ़त

बोर्ड के एक सीनियर अधिकारी ने बात करते हुए कहा है कि कार्तिक को ऐसा करने से पहले इजाजत लेनी चाहिए थी क्योंकि वह अभी भी बोर्ड के केंद्रीय अनुबंध प्राप्त खिलाड़ियों की सूची में हैं. कार्तिक को सात दिनों के अंदर इस नोटिस का जवाब देना है. अधिकारी ने कहा, “चूंकि वह भारतीय टीम के खिलाड़ी हैं ऐसे में कुछ प्रोटोकॉल होते हैं जिनका पालन करना होता है. वह केंद्रीय अनुबंध में शामिल हैं और ऐसे में वह बीसीसीआई की इजाजत के बिना सीपीएल के ड्रेसिंग रूम में नहीं जा सकते. उन्हें सात दिनों के अंदर नोटिस का जवाब देना होगा.”

यार्कर मैन मलिंगा के दम पर श्रीलंका ने आखिरी टी-20 मैच में न्यूजीलैंड को धूल चटाई

त्रिनबागो और कोलकाता दोनों की फ्रेंचाइजियों का मालिकाना हक भारतीय अभिनेता शाहरुख खान के पास है. लेकिन बीसीसीआई अपने रुख पर साफ है कि भारतीय खिलाड़ियों का विदेश की टी-20 लीगों से कोई लेना-देना नहीं है. यह बात हालांकि साफ नहीं है कि कार्तिक का ड्रेसिंग रूम में जाना आम तौर पर किया गया व्यवहार था या आईपीएल के अगले सीजन को लेकर रणनीति बनाने को लेकर वह वहां गए थे. अधिकारी ने कहा कि कॉन्ट्रैक्ट के मुताबिक कार्तिक किसी प्राइवेट लीग से नहीं जुड़ सकते

पाकिस्तान के महान स्पिनर अब्दुल कादिर का दिल का दौरा पड़ने से निधन

कार्तिक का भविष्य अब इस बात पर निर्भर करता है कि प्रशासकों की समिति (सीओए) इस मसले को किस तरह से देखती है. अधिकारी ने कहा, “देखना होगा कि सीओए उनके जवाब को किस तरह से लेती है.” कार्तिक इस समय भारतीय टीम से बाहर चल रहे हैं और अगर वे बोर्ड को अपने जवाब से संतुष्ट नहीं कर पाते तो उनकी मुश्किलें बढ़ सकती हैं.