नई दिल्ली। दुनिया के सबसे अमीर क्रिकेट बोर्ड बीसीसीआई और आईसीसी के बीच राजस्व को लेकर जमी बर्फ पिघलती नजर आ रही है. चैंपियंस ट्रॉफी के बाद भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड को आईसीसी की ओर से 40 करोड़ 50 लाख डॉलर मिलेंगे. गौरतलब कि भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) ने एक जून से इंग्लैंड में होने वाली आईसीसी चैंपियंस ट्राफी के लिये टीम की घोषणा नहीं की थी और वह अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) से पुराने बिग थ्री राजस्व मॉडल के तहत अपनी हिस्सेदारी मांग रहा था. भारतीय बोर्ड आईसीसी में बिग थ्री फामेर्ट में अपने पुराने राजस्व पर अड़ा हुआ है जिसकी स्थापना 2014 में की गयी थी.Also Read - भारतीय कप्तान विराट कोहली की खेल भावना से प्रभावित हुईं पाकिस्तान की पूर्व क्रिकेटर सना मीर

Also Read - टी20 विश्व में पहली जीत के बाद बोले अफगानिस्तान के कप्तान नबी- आगे भी जारी रखेंगे ऐसा प्रदर्शन

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक आईसीसी ने चैम्पियन्स ट्रॉफी के लिए इंग्लैंड को 135 मिलियन अमेरिकी डॉलर का बजट दिया है, जबकि इसी साल भारत में हुए टी-20 वर्ल्ड कप के लिए भारत को महज 45 मिलियन अमेरिकी डॉलर दिए गए थे। इसको लेकर बीसीसीआई और आईसीसी में ठनी हुई थी. लेकिन आज के निर्णय के बाद दोनों के बीच सबकुछ ठीक हो गया है. Also Read - IPL Team Auction Live: आईपीएल को मिली दो नई टीमें, जानें अहमदाबाद-लखनऊ फ्रेंचाइजी से BCCI को हुई कितनी कमाई ?

बीसीसीआई का दावा है कि दुनिया भर से होने वाली क्रिकेट की कमाई में सबसे ज्यादा योगदान भारत का ही है, लिहाजा उसे सबसे ज्यादा 550 मिलियन अमेरिकी डॉलर का हिस्सा मिलना चाहिए. ऐसे में अब देखना होगा कि क्या बोर्ड आईसीसी के इस नए ऑफर को कबूल करता है या नहीं.