नई दिल्ली : बीसीसीआई ने मंगलवार को कहा कि वह अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद द्वारा द्विपक्षीय श्रृंखलाएं नहीं खेलने पर भारत के खिलाफ पाकिस्तान के मुआवजे के दावे को खारिज किए जाने के बाद पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड से मुकदमे का खर्च वसूलने के लिए आईसीसी की विवाद निवारण समिति के समक्ष मामला दायर करेगा. आईसीसी की विवाद निवारण समिति ने भारत के खिलाफ पाकिस्तान के दावे को खारिज कर दिया. पीसीबी ने बीसीसीआई पर द्विपक्षीय श्रृंखलाओं पर एमओयू का सम्मान नहीं करने का आरोप लगाया था.Also Read - VIDEO: CSK को चौथा खिताब जिता घर लौटे रुतुराज गायकवाड़; मां ने कुछ इस अंदाज में किया स्वागत

Also Read - Investment Options Except FD: बैंक FD के अलावा भी हैं निवेश के विकल्प, जानें- कहां पर निवेश करना रहेगा बेहतर?

बीसीसीआई ने बयान में कहा, ‘‘दुबई में तीन दिन तक दोनों पक्षों के साक्ष्य और जिरह पर सुनवाई के बाद, विवाद निवारण समिति ने पीसीबी के सभी दावे खारिज कर दिए और बीसीसीआई के पक्ष को स्वीकार किया जो इस आधार पर था कि बीसीसीआई का पत्र बाध्यकारी नहीं था और यह सिर्फ खेलने की इच्छा जताई गई थी.’’ Also Read - UP Dengue And Fever: यूपी में डेंगू-फीवर का कहर, 24 घंटे में 22 लोगों की मौत, एटा और मैनपुरी की हालत खराब

रणजी ट्रॉफी 2018: जाफर-फजल ने जड़ा शानदार शतक, विदर्भ ने पहले दिन बड़ौदा के खिलाफ बनाए 268 रन

बयान के अनुसार कहा, ‘‘बीसीसीआई तहेदिल से विवाद निवारण समिति के फैसले का स्वागत करता है. बीसीसीआई अब पीसीबी से मुकदमे का खर्चा वसूलने के लिए विवाद निवारण पैनल की शरण में जाएगा.’’

भारत के खिलाफ केस करने पर पाकिस्तान को लगा करारा झटका, ICC ने खारिज किया मामला

बता दें कि बीसीसीआई के खिलाफ पीसीबी के 447 करोड़ रुपये के मुआवजे के दावे को अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) के खारिज करने के फैसले का पूर्व बीसीसीआई अध्यक्ष अनुराग ठाकुर ने को स्वागत किया. मध्यप्रदेश के चुनावी दौरे पर यहां पहुंचे ठाकुर ने कहा, “मैं आईसीसी के इस फैसले का स्वागत करता हूं, क्योंकि बीसीसीआई से पीसीबी की मुआवजे की मांग एकदम बेतुकी थी.”