नई दिल्ली : भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) ने तेज गेंदबाज मोहम्मद शमी की फिटनेस को लेकर सतर्कता बरतते हुए आगामी रणजी ट्रॉफी के मैच में उन्हें एक पारी में 15 ओवर से अधिक गेंदबाजी नहीं करने को कहा है. बोर्ड ने यह फैसला इसलिए लिया है ताकि वह आगामी ऑस्ट्रेलिया दौरे के लिए फिट रह सकें. जहां टीम को टेस्ट मैच खेलने हैं. शमी इस समय रणजी ट्राफी में बंगाल के लिए खेल रहे हैं. बंगाल को ईडन गार्डन्स स्टेडियम में 20 नवंबर से केरल के खिलाफ अपना अगला मैच खेलना है. Also Read - IPL 2020: नेस वाडिया ने खराब अंपारिंग को लेकर उठाए सवाल, BCCI को दी EPL और NBA से सीख लेने की सलाह

Also Read - IPL 2020 के बाद यूएई में ही खेली जाएगी भारत-इंग्लैंड सीरीज

बीसीसीआई ने यह निर्देश बंगाल क्रिकेट संघ (कैब) के उस अनुरोध पर दिया है, जिसमें उसने कहा था कि शमी जब उपलब्ध हैं तो उन्हें केरल के खिलाफ मैच में खेलने देना चाहिए. बीसीसीआई ने बंगाल टीम प्रबंधन को ये निर्देश भी दिया है कि वे शमी के प्रतिदिन के वर्कलोड और फिटनेस की रिपोर्ट बोर्ड के फीजियो को भेजेंगे. बंगाल ने शमी को शुक्रवार को घोषित की गई 16 सदस्यीय टीम में शामिल किया है. Also Read - IPL 2020: स्टेडियम के अंदर नहीं होगी मीडियाकर्मियों की एंट्री, दर्शक भी होंगे नदारद, जानिए पूरी डिटेल

गिलक्रिस्ट ने की भारतीय गेंदबाजों की तारीफ, कहा- ऑस्ट्रेलिया दौरे रहेंगी सभी की निगाहें

बंगाल के कप्तान मनोज तिवारी ने कहा “हम बीसीसीआई के इस फैसले का सम्मान करते हैं और वैसे भी सभी क्रिकेटर्स के लिए भारतीय टीम के लिए खेलना सर्वोपरि है.” तिवारी ने कहा, “शमी जब अपनी लय में गेंदबाजी कर रहे हो तो 15 ओवर तो उनके लिए काफी अधिक हैं, वो इससे भी कम ओवरों में विरोधी टीम की कमर तोड़ सकते हैं. मुझे पूरी उम्मीद है कि वह अपने काम को बाकी गेंदबाजों के साथ मिलकर अच्छा करेंगे.”

ड्वेन ब्रावो ने याद का 2014 का भारत दौरा, कहा – जब बोर्ड ने नहीं दिए पैसे तब BCCI बना मददगार

बता दें कि टीम इंडिया के तेज गेंदबाज शमी ने अब तक 69 इंटरनेशनल टेस्ट पारियों में 128 विकेट झटके हैं. इस दौरान वो 3 बार पांच या इससे ज्यादा विकेट ले चुके हैं. शमी ने शमी का एक पारी में सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन 28 रन देकर 5 विकेट लेना रहा हैय जब कि एक मैच में 118 रन देकर 9 विकेट ले चुके हैं. उन्होंने फर्स्ट क्लास मैचों की 109 पारियों में 223 विकेट लिए.