भारत के अनुभवी टेनिस खिलाड़ी लिएंडर पेस के लिए घरेलू कोर्ट पर एटीपी (ATP) टूर का अंतिम मुकाबला निराशाजनक रहा. पेस और उनके ऑस्ट्रेलियाई जोड़ीदार मैथ्यू एब्डन को बेंगलुरू ओपन के फाइन में हार का सामना करना पड़ा है. शनिवार को खेल गए खिताबी मुकाबले में पेस और एब्डन को चौथी वरीयता प्राप्त हमवतन पूरव राजा और रामकुमार रामनाथन की जोड़ी ने  56 मिनट तक चले मैच में 6-0, 6-3 से हराया. Also Read - लिएंडर पेस के टोक्यो ओलंपिक के लिए टीम में जगह बनाने के सवाल पर भूपति ने दिया बड़ा बयान

IPL 2020: मुंबई और चेन्नई के बीच होगा आईपीएल 2020 पहला मुकाबला, शनिवार को नही होंगे डबल हेडर मुकाबले Also Read - Davis Cup : 46 वर्षीय लिएंडर पेस नेे जीता 44वां युगल मुकाबला, भारत की पाक पर 3-0 की अजेय बढ़त

पेस के पेशेवर टेनिस करियर का ये अंतिम वर्ष है. 46 वर्षीय पेस और एब्डन ने तीसरी सीड स्वीडन के आंद्रे गोरांसन और इंडोनेशिया के क्रिस्टोफर रंगकट 7-5, 0-6, 10-7 से हराकर फाइनल में प्रवेश किया था. इस हार के बार पेस ने भावुक होकर घरेलू समर्थकों का शुक्रिया अदा किया. Also Read - Davis Cup: भारत ने दोनों सिंगल्स मुकाबलों में चिर-प्रतिद्वंदी पाकिस्तान को चटाई धूल, अब नजरें लिएंडर पेस पर

फाइनल से पहले पेस ने अपने सोशल मीडिया ट्विटर अकाउंट पर लिखा था कि घरेलू जमीन पर आखिरी टूर्नामेंट के फाइनल में होना काफी खुशी की बात है.

वनडे-टी20 विश्व कप जीतने से भी बड़ी उपलब्धि है टेस्ट चैंपियनशिप : चेतेश्वर पुजारा

उन्होंने ट्वीट किया, ‘किसी ने मुझसे कहा, अपने घरेलू मैदान पर आखिरी टूर्नामेंट के फाइनल में पहुंचने के बारे में सोचो. मैंने कहा, ‘यह सपने की तरह होगा. और यह सपना आज सच हो रहा है.’ खुशी इस बात की भी है कि आज एक भारतीय ही इस खिताब को जीतेगा.’

उधर, पूरव राजा और रामनाथन को साकेत मायनेनी और ऑस्ट्रेलिया के मैट रीड के रिटायर्ड हर्ट होने के कारण आसानी से फाइनल का टिकट मिल गया था. मायनेनी और रीड ने जब मुकाबले को छोड़ने का फैसला किया उस समय वह पहला सेट 5-7 से गंवा चुके थे.