कर्नाटक प्रीमियर लीग (KPL) के पिछले सीजन में मैच फिक्सिंग (Match Fixing) से जुड़े मामले में बेंगलुरू पुलिस ने क्रिकेटर निशांत सिंह शेखावत (Nishant Singh Shekhawat) को गिरफ्तार कर लिया है.

इंडियन एक्‍सप्रेस अखबार में छपी रिपोर्ट में पुलिस सूत्रों के हवालें से लिखा गया कि बेंगलुरू ब्‍लास्‍टर फ्रेंचाइजी के गेंदबाजी कोच वीनू प्रसाद (Vinu prasad) और बल्‍लेबाज एम. विश्‍वनाथन (M Vishwanathan) की गिरफ्तारी के बाद से ही निशांत सिंह शेखावत का नाम इस पूरे घटनाक्रम में आ रहा था. एजेंसी ने जांच पड़ताल के बाद उन्‍हें धोखाधड़ी और आपराधिक षडयंत्र के मामले में गिरफ्तार किया.

पढ़ें:- विराट जब भी ब्रेक लेते हैं टीम में उनकी कमी से खाई बढ़ती जाती है: मोहिंदर अमरनाथ

बताया गया कि शेखावत बुकीज के साथ सीधे संपर्क में था. जिसके बाद उसने विनू प्रसाद को इसकी जानकारी दी थी. उसने ही चंडीगढ़ के रहने वाले बुकी मनोज कुमार उर्फ मोंटी से प्रसाद और विश्‍वनाथन को मिलवाया.

पुलिस के मुताबिक फ्रेंचाइजी हुबली टाइगर के खिलाफ विश्‍वनाथन को 20 गेंद पर 10 रन बनाने के लिए बुकीज ने कहा था. उस मैच में विश्‍वनाथन ने 17 गेंद पर नौ रन की पारी खेली. ऐसा करने के लिए उसे पांच लाख रुपये दिए गए.

केपीएल में फिक्सिंग से जुड़े मामले में बेंगलुरू पुलिस इससे पहले फ्रेंचाइजी बेलगावी पैंथर्स के मालिक अली अशफाक थारा और सेलिब्रिटी ड्रमर भावेश बाफना को भी गिरफ्तार कर चुकी है.

पढ़ें:- पूर्व कप्तान ने कहा- भारत के लिए टी20 विश्व कप जीतना आसान नहीं होगा

एक अन्‍य मामले में गेंदबाज भावेश गुलेचा ने यह बताया था कि केपीएल 2019 के दौरान सेलिब्रिटी ड्रमर बाफना ने उन्‍हें संपर्क कर एक ओवर में 10 से ज्‍यादा रन लुटाने के लिए कहा था. उसका कहना था बावना ने उन्‍हें बुकीज की तरफ से संपर्क किया था.