पुणे: भारत के गेंदबाजी कोच भरत अरूण ने मंगलवार को स्पष्ट किया मोहम्मद शमी और उमेश यादव टेस्ट मैचों के लिये पहली पसंद हैं जबकि भुवनेश्वर कुमार और जसप्रीत बुमराह सीमित ओवरों के प्रारूप के लिये पहले विकल्प होंगे.अरूण ने कहा, ‘‘शमी और यादव हमारे नंबर एक टेस्ट गेंदबाज हैं. भुवनेश्वर और बुमराह बेजोड़ हैं और उनके पास एकदिवसीय प्रतियोगिता में अच्छा प्रदर्शन करने के लिये हर तरह का कौशल है. ’’ उन्होंने न्यूजीलैंड के खिलाफ दूसरे वनडे मैच की पूर्व संध्या पर पत्रकारों से कहा, ‘‘भारत जितनी अधिक क्रिकेट खेल रहा है उसे देखते हुए यह बेहद महत्वपूर्ण है कि हमारे पास गेंदबाजों का समूह हो ताकि हम जो भी मैच खेलें उसमें वे तरोताजा होकर उतरें. ’’ उमेश और शमी को टेस्ट क्रिकेट में प्राथमिकता देने के कारण टीम प्रबंधन चाहता है कि ये दोनों रणजी ट्राफी में खेलें. Also Read - ऑलराउंडर की भूमिका में रवींद्र जडेजा का आगे बढ़ना भारत के लिए बहुत बड़ा बोनस: भरत अरुण

अरूण ने कहा, ‘‘हम चाहेंगे कि ये गेंदबाज प्रथम श्रेणी क्रिकेट में खेलें. मोहम्मद शमी और उमेश यादव प्रथम श्रेणी क्रिकेट में खेल रहे हैं और शमी (दो मैचों में दस विकेट) बंगाल की तरफ से काफी अच्छा प्रदर्शन कर रहा है. ’’ भारतीय टीम के इस पूर्व तेज गेंदबाज ने कहा कि गेंदबाजों के काम के भार को नियंत्रित करना उनकी प्राथमिकता है.

Mahendra Singh Dhoni’s Chennai Super Kings Reunion Hinges On This | चेन्नई सुपरकिंग्स में महेंद्र सिंह धोनी की वापसी का रास्ता हो सकता है साफ

Mahendra Singh Dhoni’s Chennai Super Kings Reunion Hinges On This | चेन्नई सुपरकिंग्स में महेंद्र सिंह धोनी की वापसी का रास्ता हो सकता है साफ

Also Read - India vs Australia: मोहम्मद सिराज ने बताया ऑस्ट्रेलिया में कामयाबी का राज

उन्होंने कहा, ‘‘बहुत अधिक गेंदबाजी और बहुत कम गेंदबाजी गेंदबाजों के लिये अच्छा नहीं है. इसलिए यह सुनिश्चित करने की जरूरत है कि वे पर्याप्त गेंदबाजी करें और पर्याप्त मैच खेलें ताकि जब उनकी जरूरत पड़े तो फिट रहें. ’’ अरूण ने युवा स्पिनरों कुलदीप यादव और युजवेंद्र चहल की भी तारीफ की और कहा कि उन्होंने जिस तरह से प्रदर्शन किया है उससे वह खुश हैं. Also Read - गेंदबाजी कोच की सलाह- अपने राज्य के मैदानों पर अभ्यास शुरू करें भारतीय क्रिकेटर

उन्होंने कहा, ‘‘इन दोनों लड़कों (चहल और यादव) ने बेहतरीन प्रदर्शन किया और विश्व कप के लिये टीम का चयन करने से पहले हम उन्हें अच्छी तरह से परखना चाहते हैं. अब तक उनका प्रदर्शन बेजोड़ रहा है. ’’ इस बीच भारतीय कप्तान विराट कोहली और तेज गेंदबाज अभ्यास सत्र के लिये नहीं आये क्योंकि यह वैकल्पिक था.