नई दिल्ली : टीम इंडिया के तेज गेंदबाज भुवनेश्वर कुमार चोटिल होने की वजह से इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट सीरीज नहीं खेल पाए. लेकिन वो ठीक होने के बाद इंडिया ए के लिए खेले. उन्होंने साउथ अफ्रीका ए के खिलाफ खेले एक मुकाबले में शानदार प्रदर्शन करते हुए 3 विकेट झटके. भुवी के इस प्रदर्शन से टीम इंडिया की टेंशन कम हो गयी है, क्यों कि अब वो एशिया कप के लिए पूरी तरह फिट हो चुके हैं. Also Read - हमें शुरुआती 8-9 मैच दिल्‍ली-चेन्‍नई में खेलने हैं, यहां की पिचें हमें रास नहीं आती: डेविड वार्नर

Also Read - ICC Player of the Month: भुवनेश्‍वर कुमार को मिला इंग्‍लैंड के खिलाफ शानदार प्रदर्शन का इनाम, पूनम राउत-राजेश्‍वरी गायकवाड़ भी हुई नामांकित

दरअसल 15 सितंबर से यूएई में एशिया कप खेला जायेगा. इस टूर्नामेंट में कुल 13 वनडे मैच खेले जाने हैं. इसलिए अभी भारतीय टीम का सलेक्शन नहीं हुआ. लिहाजा भुवनेश्वर का फिट होना टीम इंडिया के लिए बड़ी और अच्छी खबर है. भुवी ने क्वाड्रांगुलर सीरीज में इंडिया ए की ओर से खेलते हुए साउथ अफ्रीका के तीन खिलाड़ियों को पवेलिनय भेजा. उन्होंने 9 ओवर फेंके, जिसमें 33 रन दिए और एक मेडन ओवर भी निकाला. Also Read - ICC World Cup Super League points table: द. अफ्रीका को हराकर दूसरे स्‍थान पर पहुंचा पाकिस्‍तान, भारत की हालत पतली

इंग्लैंड के बाद भारत से होगा वेस्टइंडीज का ‘टेस्ट’, टीम का हुआ एलान

इस मुकाबले में इंडिया ए ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 50 ओवर में 7 विकेट खोकर 275 रन बनाए. इस दौरान अंबाती रायडू ने 66 रन और श्रेयस अय्यर ने 67 रन की बेहतरीन पारी खेली. इसके जवाब में उतरी साउथ अफ्रीका ए की टीम महज 151 रन पर ऑल आउट हो गयी. इंडिया ए की इस जीत में भुवनेश्वर का अहम योगदान रहा. इसके अलावा दीपक चाहर और मयंक मार्कंडे ने 2-2 विकेट हासिल किए. वहीं खलील अहमद और क्रुणाल पांड्या ने एक-एक विकेट लिया.

विराट कोहली ने इंग्लैंड में किया 16 साल पुराने रिकॉर्ड को टारगेट, सब छूटेंगे पीछे

बता दें कि भुवनेश्वर ने पहले अपनी आउटस्विंगर से थेयुनिस डि ब्रुयेन को आउट किया, इसके बाद इनस्विंगर से खाया जोंडो को पवेलियन भेजा. वह इंग्लैंड के खिलाफ अंतिम दो टेस्ट के लिये समय पर फिट नहीं हो सके. पहले तीन मैचों में पीठ की चोट के कारण वह टीम में जगह नहीं बना सके थे. पूरी तरह फिट होने के बाद उन्होंने नेट पर अभ्यास शुरू किया और फिटनेस का पता करने के लिये राष्ट्रीय चयन समिति ने उन्हें तीसरे-चौथे स्थान के प्ले ऑफ मैच में खिलाने का फैसला किया.