नई दिल्ली: सनराइजर्स हैदराबाद और चेन्नई सुपरकिंग्स के बीच राजीव गांधी स्टेडियम में रविवार को मैच खेला जायेगा. इस मुकाबले से पहले चेन्नई ने राजस्थान रॉयल्स को पुणे में हराया. वहीं हैदराबाद को अपने पिछले मुकाबले में किंग्स इलेवन पंजाब के खिलाफ हार का सामना करना पड़ा था. चेन्नई और हैदराबाद के बीच खेला जाने वाला यह मुकाबला बेहद खास होगा. महेन्द्र सिंह धोनी की कप्तानी वाली टीम चेन्नई ने आईपीएल के इस सीजन में अभी तक दमदार प्रदर्शन किया है. दूसरी ओर केन विलियमसन की कप्तानी वाली टीम हैदराबाद ने भी बेहतरीन प्रदर्शन किया है. इस वजह से दोनों टीमों के बीच कड़ी टक्कर देखने को मिलेगी.Also Read - एक साथ नजर आए महेंद्र सिंह धोनी, युवराज सिंह; 2011 विश्व कप की यादें ताजा हुई

Also Read - दक्षिण अफ्रीका दौरे पर टेस्ट टीम में अजिंक्य रहाणे की जगह ले सकते हैं श्रेयस अय्यर: हरभजन सिंह

रिकॉर्ड पर नजर डालें तो चेन्नई का पलड़ा भारी नजर आता है. इन दोनों टीमों के बीच हेड टू हेड खेले गए मैचों में 4 मुकाबलों में चेन्नई ने जीत हासिल की है. वहीं 2 मैच में हैदराबाद ने जीत हासिल की है. राजीव गांधी स्टेडियम में दोनों ही टीमों का प्रदर्शन करीब-करीब एक जैसा रहा है. अगर इस सीजन के प्रदर्शन की बात करें तो हैदराबाद ने राजस्थान, मुंबई, कोलकाता को हराया है और पंजाब के खिलाफ हार का सामना किया है. चेन्नई ने मुंबई, राजस्थान, कोलकाता को हराया है और पंजाब के खिलाफ हार का सामना किया था. Also Read - भारत में ड्राइविंग लाइसेंस प्राप्त करने वाला पहला छोटे कद का शख्‍स, ऊंचाई सिर्फ 3 फीट

तो क्या युवराज सिंह की तरह छक्के जड़ता है दिल्ली का ये युवा बल्लेबाज !

इस मुकाबले जुड़े कई दिलचस्प तथ्य भी हैं, जिनमें सबसे अहम यह है कि डेथ ओवर्स में भुवनेश्वर कुमार ने महेन्द्र सिंह धोनी के खिलाफ 44 गेंदों में 81 रन बनाए हैं. इसके अलावा सुरेश रैना के खिलाफ भुवनेश्वर सफल रहे हैं. भुवी ने रैना के खिलाफ 45 गेंदें फेंकी हैं, जिनमें 62 रन देकर उन्हें तीन बार आउट किया है. इसके अलावा चेन्नई के स्पिन गेंदबाज हरभजन सिंह की बात करें तो वो हैदराबाद के शिखर धवन, ऋध्दिमान साहा और यूसुफ पठान को आउट नहीं करर पाए हैं.

धोनी की रणनीति में उलझेंगे हैदराबाद के खिलाड़ी, धवन की फिटनेस बन सकती है बड़ी दिक्कत

बता दें कि चेन्नई और हैदराबाद के बीच खेले जाने वाले इस मुकाबले में चेन्नई अपनी पिछली प्लेइंग इलेवन के साथ ही उतरेगी. वह पूरी तरह से संतुलित है. इसलिए संभवत: इसकी प्लेइंग इलेवन में कोई बदलाव नहीं होगा. वहीं हैदराबाद के लिए शिखर धवन की फिटनेस बड़ी समस्या होगी. धवन पिछले मुकाबले में चोटिल होकर रिटायर्ट हर्ट हो गए थे. लिहाजा केन विलियमसन को यह देखना होगा कि धवन फिट हैं या नहीं, क्यों कि बतौर ओपनर वो अब तक दमदार प्रदर्शन करते रहे हैं. इसके अलावा इस टीम की प्लेइंग इलेवन में भी संभवत: कोई बदलाव नहीं होगा.