नई दिल्ली. एक और खेल, एक और खिलाड़ी, एक और बायोपिक. बॉलीवुड में पिछले 3-4 सालों से खिलाड़ियों पर बायोपिक बनाने का सिलसिला बदस्तूर जारी है. इस दौरान पान सिंह तोमर, मैरी कॉम, अजहरुद्दीन, सचिन तेंदुलकर, एमएस धोनी, मिल्खा सिंह और संदीप सिंह पर बायोपिक बनीं. और, अब इस क्लब में तेेज धावक हिमा दास का भी नाम जुड़ सकता है. बॉलीवुड के खिलाड़ी कुमार कहे जाने वाले अक्षय कुमार ने हिमा दास पर बायोपिक बनाने को लेकर अपनी इच्छा जाहिर की है. Also Read - Gold Rates Today 21 September 2020: आज सोने के दाम में क्या हो सकते हैं बदलाव, जानें अपनी शहर के दुकान का ताजा भाव

हिमा की गोल्डन दौड़ Also Read - Gold Prices Today 20 September 2020: एक महीने में आई सोने के दाम में भारी कमी, जानें किस कैरेट गोल्ड का आपके बाजार में क्या है भाव

हिमा दास ने अभी हाल ही में IAAF की U20 चैम्पियनशिप में महिलाओं की 400 मीटर इवेंट में स्वर्ण पदक जीत इतिहास रचा था. वह IAAF टूर्नामेंट में स्वर्ण पदक जीतने वाली पहली भारतीय महिला धावक बनी थीं. इस कामयाबी को चूमने का हिमा दास का सफर काफी मुश्किलों भरा रहा है. बावजूद इसके उन्होंने हार न मानते हुए अपने हौसलों से स्वर्णिम उड़ान भरी है. Also Read - Gold/Silver Price Today 19 September: सोने-चांदी की कीमत में एक हफ्ते में आई तेजी, जानिये आपके शहर में क्या है रेट, खरीदने का है सही समय?

‘खिलाड़ी’ कुमार का इरादा

बता दें कि अक्षय इस समय अपनी नई फिल्म ‘गोल्ड’ के प्रमोशन में व्यस्त हैं. उनकी आने वाली यह फिल्म खेल पर आधारित है.  वो एक कार्यक्रम में शिरकत करने आए थे जो अगले महीने से शुरू हो रहे एशियाई खेलों में जाने वाले भारतीय दल को शुभकामनाएं देने के लिए आयोजित किया गया था. इसी कार्यक्रम में अक्षय कुमार ने हिमा दास की सक्सेस स्टोरी को फिल्मी पर्दे पर उतारने की इच्छा जताई.

अक्षय कुमार ने कहा, “मैं हीमा दास पर बायोपिक बनाना चाहता हूं क्योंकि वो एक ट्रैक रनर हैं. उन्होंने जो मुकाम हासिल किया है वो काफी कम लोगों को मिलता है. किसी खिलाड़ी का भारत के अंदरूनी हिस्से से आना और ट्रैक पर स्वर्ण पदक जीतना असल में अविश्वसनिय सा लगता है.”

हिमा का संघर्ष

बता दें कि 18 साल की हिमा दास असम के नौगांव जिले के धिंग गांव की रहने वाली हैं और वो एक साधारण किसान परिवार से ताल्लुक  रखती हैं. उनके पिता चावल की खेती कर परिवार का गुजारा करते हैं. हिमा परिवार के 6 बच्चों में सबसे छोटी हैं.

‘गोल्ड’ के बाद दिखेगी ‘गोल्डन गर्ल’ की कहानी!

अक्षय के मुताबिक, “जब ट्रैक स्पर्धाओं की बात आती है तो भारत थोड़ा कमजोर सा लगता है. मुझे लगता है कि हमें इसे आगे बढ़ाना चाहिए और विश्व को दिखाना चाहिए की हमारे पास काफी प्रतिभा है.” अक्षय से जब पूछा गया कि क्या उन्हें लगता है कि फिल्म खेल के प्रति दर्शकों की मानसिकता को बदल सकती है तो उन्होंने कहा, “मुझे गोल्ड की कहानी पसंद है जो जल्द ही आने वाली है. मुझे लगा था कि यह कहानी बताने लायक है.” खेल और खिलाड़ियों पर अब तक जितनी भी बोयोपिक बनीं है वो रुपहले पर्दे पर सफल रही हैं. उम्मीद है कि न सिर्फ अक्षय की आने वाली फिल्म गोल्ड बल्कि हिमा दास की गोल्डन जर्नी पर बायोपिक बनाने की उनकी सोच भी जब पर्दे पर उतरे तो वो सुपरहिट साबित हो.