नई दिल्ली. भारत-ऑस्ट्रेलिया के बीच बॉर्डर-गावस्कर टेस्ट सीरीज शुरू होने वाली है. इस सीरीज को जीतेगा कौन इसे लेकर तमाम क्रिकेट पंडित अपने-अपने तरीके से आकलन कर रहे हैं. लेकिन इसके नतीजे को लेकर सबसे विश्वसनीय EXIT POLL खुद उन दो खिलाड़ियों का आया है, जिनके नाम पर ये सीरीज खेली जाती है यानी कि पूर्व ऑस्ट्रेलियाई कप्तान एलन बॉर्डर और उनके समकक्ष रहे सुनील गावस्कर. Also Read - 'तुम इस तरह विकेट गिफ्ट करके नहीं जा सकते...' Rohit Sharma के आउट होने पर भड़के सुनील गावस्‍कर

Also Read - IND vs AUS: कप्तान टिम पेन ने कहा- गावस्कर जो चाहें कह सकते हैं, हमें फर्क नहीं पड़ता

AUSvsIND: 6 दिसंबर से खेला जायेगा पहला टेस्ट, जानें कब, कहां और कैसे देख सकेंगे मैच Also Read - India vs Australia: मैच कॉमेंट्री के दौरान चैनल 7 से हुई बड़ी गलती, सुनील गावस्कर को बताया Sachin Tendulkar

बॉर्डर का EXIT POLL

सबसे पहले एलन बॉर्डर के EXIT POLL पर नजर डालते हैं. बॉर्डर ने 4 टेस्ट मैचों की सीरीज में 2-1 से ऑस्ट्रेलिया को विजेता बनाया है. बॉर्डर ने कहा, “ये टीम इंडिया के लिए बेशक ऑस्ट्रेलिया को ऑस्ट्रेलिया में टेस्ट सीरीज हराने का सबसे बेहतर मौका है. ये मौका इसलिए है क्योंकि हम बदलाव से गुजर रहे हैं और हमारी बल्लेबाजी वो बात नहीं है. लेकिन, मुझे अब भी लगता है कि ऑस्ट्रेलिया इस सीरीज को 2-1 से जीतने में कामयाब रहेगा.”

विराट कोहली को OUT करना ऑस्ट्रेलिया के लिए बड़ी मुश्किल बाबा बड़ी मुश्किल

गावस्कर का EXIT POLL

दूसरी ओर भारत के पूर्व दिग्गज सलामी बल्लेबाज सुनील गावस्कर ने अपने EXIT POLL में ऑस्ट्रेलिया की जगह टीम इंडिया को विजेता बताया है. गावस्कर ने सीरीज के नतीजे का अंतर 3-0 से टीम इंडिया के हक में बताया है. गावस्कर ने कहा,” भारत इस सीरीज को 3-0 से जीतेगा. भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच मेलबर्न टेस्ट ड्रॉ पर खत्म होगा क्योंकि मुझे ऐसा लगता है कि वहां बारिश बाधा बनेगी.”

क्या खत्म होगा टीम इंडिया का इंतजार?

भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच बॉर्डर गावस्कर टेस्ट सीरीज का लंबा इतिहास है. ये सीरीज एक बार भारतीय सरजमीं पर तो एक बार ऑस्ट्रेलियाई सरजमीं पर खेली जाती है. भारत ने अपनी सरजमीं पर तो इस टेस्ट सीरीज को अपने नाम किया है लेकिन ऑस्ट्रेलियाई धरती पर उसे इसे अपने नाम करने का इंतजार है. अगर गावस्कर का EXIT POLL बॉर्डर के EXIT POLL से ज्यादा सही ठहरता है तो इस बार भारतीय टीम का ये इंतजार खत्म होता दिख सकता है.