नई दिल्ली: बांग्लादेश प्रीमियर लीग के दौरान एक बड़ी चूक सामने आई है. दरअसल रंगपुर राइडर्स के खिलाफ मैच के दौरान अंपायर ने सिलहट सिक्सर्स के गेंदबाज कमरुल इस्लाम रब्बी से एक ओवर में 7 गेंदें करवा दी, जिसका खामियाजा उनकी टीम को हार से चुकाना पड़ा. मैच के बाद अब सिलहट सिक्सर्स ने लीग में इसकी आधिकारिक शिकायत की है.

टीम के दूसरे गेंदबाज नबिल समद ने बताया, हमारे गेंदबाज से एक गेंद एक्ट्रा कराई गई. रब्बी ने अंपायर को इसकी जानकारी भी दी लेकिन उन्होंने अपना निर्णय नहीं बदला. मुझे नहीं पता की अंपायर ने तीसरे अंपायर की सहायता क्यों नहीं ली. हालांकि घटना के वक्त मैं वहां मौजूद नहीं था. यह भी पढ़ें: BCCI ने 10 नंबर की जर्सी को किया ‘रिटायर’, फील्ड पर थी सचिन की पहचान!

गेंदबाज रब्बी ने 16वें ओवर में छठी गेंद फेंकने के बाद अंपायर से अपनी कैप मांगी तो अंपायर महाफुजुर रहमान ने थर्ड अंपायर गाजी गोयल से पूछा कि ओवर हो गया है? इस पर थर्ड अंपायर ने ये कहा कि अभी एक गेंद बाकी है. ये अंपायरों की ओर से बड़ी गलती थी. सातवीं गेंद पर रंगपुर राइडर्स के बल्लेबाज रवि बोपारा ने एक रन लिया और स्ट्राइक अपने पास रखी. इस मैच में आखिरकार सिलहट सिक्सर्स को हार का सामना करना पड़ा.

घटना के बाद सिलहट टीम के मीडिया मैनेजर तमजीदुल इस्लाम ने प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान कहा, टीम के लिए बड़ी हार साबित हुई.  इससे हमारी टीम अब प्लेऑफ की दौड़ से बाहर हो गई. लीग फ्रेंचाईजी ने घटना को देखते हुए शिकायत दर्ज कर ली है. हमने शिकायत दर्ज कराई है. हमारी टीम के कप्तान ने भी मैच के दौरान फील्ड पर इस गलती पर सवाल भी उठाए थे. तीसरे अंपायर द्वारा मैच का रिव्यू लेने के बाद उन्होंने भी हमें शिकायत दर्ज कराने को कहा.