नई दिल्ली: मेक्सिको फीफा विश्व कप में सोमवार को ब्राजील के खिलाफ प्री-क्वार्टर फाइनल में भिड़ने के लिए तैयार है. आत्मविश्वास से भरी इस टीम का लक्ष्य ब्राजील के डिफेंस को तोड़कर अपने लिए क्वार्टर फाइनल की राह तलाशना होगा. फीफा विश्व कप में अब तक मेक्सिको ने केवल दो बार ही क्वार्टर फाइनल तक का सफर तय किया है. वह 1970 और 1986 में अंतिम-8 में प्रवेश कर पाई थी, वहीं ब्राजील 13 बार क्वार्टर फाइनल में पहुंची है. Also Read - IPL 2020 KKR vs MI Preview: कोलकाता-मुंबई मैच में 'हिटमैन', शुबमन, हार्दिक और रसेल पर होगी नजर

Also Read - कोरोना का कहर: FIFA का ऐलान- अगले साल तक स्थगित हो सकते हैं सभी अंतरराष्ट्रीय फुटबाल मैच

ऐसे में मेक्सिको के लिए ब्राजील के खिलाफ जीत हासिल कर अंतिम-8 टीमों में स्थान हासिल कर पाना इतना आसान नहीं होगा. ब्राजील के लिए भले ही ग्रुप स्तर पर टूर्नामेंट की शुरुआत धीमी रही है, लेकिन उसने अपने खेल में सुधार करते हुए बाकी दोनों ग्रुप मैचों में अच्छा प्रदर्शन कर प्री-क्वार्टर फाइनल में जगह बनाई. Also Read - COVID-19: भारत में होने वाला FIFA U-17 महिला वर्ल्ड कप 2020 स्थगित

INDvENG: टीम इंडिया में बुमराह की जगह शामिल हुआ यह गेंदबाज, वॉशिंगटन का भी मिला विकल्प!

मेक्सिको ने अपने पहले ग्रुप मैच में जर्मनी को 1-0 से हराकर यह साबित कर दिया था कि उसके डिफेंस को तोड़ पाना किसी भी टीम के लिए आसान नहीं होगा. हालांकि, दक्षिण कोरिया को हराने के बाद अपने तीसरे ग्रुप मैच में मेक्सिको को स्वीडन से हार का सामना करना पड़ा था.

स्वीडन से मिली हार ने मेक्सिको को और भी सर्तक कर दिया है. इसके अलावा, इस मैच में टीम के पास उनके सेंट्रल डिफेंडर हेक्टर मोरेनो नहीं है. इसलिए, ब्राजील के खिलाफ गोल खाने से बचने के लिए टीम को प्रतिद्वंद्वी टीम के अटैक को रोकना होगा. इसका साफ मतलब यह है कि मेक्सिको को ब्राजील के स्टार खिलाड़ी फिलिप कोटिन्हो, नेमार को किसी भी हाल में अपने गोल पोस्ट तक नहीं पहुंचने देना होगा.

ब्राजील अपने दोनों ग्रुप मैच जीतने के बाद आत्मविश्वास से भरी हुई है. छठे खिताब के लक्ष्य से इस टूर्नामेंट में उतरी ब्राजील किसी भी हाल में पीछे नहीं हटेगी. वह मेक्सिको के प्रदर्शन से भलिभांति परिचित है और उसका लक्ष्य टीम के डिफेंस पर वार करना होगा.

सचिन के बाद उमेश ने भी किया तगड़ा विरोध, वनडे के इस नियम से हैं नाखुश

मेक्सिको के डिफेंस को तोड़ना ही उसके लिए समारा एरीना में खेले जाने वाले प्री-क्वार्टर फाइनल मैच की सबसे बड़ी चुनौती होगी. उसके पास नेमार और कोटिन्हो के अलावा थियागो सिल्वा और गेब्रिएल जीसस जैसे खिलाड़ी भी शामिल हैं.

टीम ब्राजील :

गोलकीपर – एलिसन, कासियो, एंडरसन.

डिफेंडर – गेरोमेल, फिलिपे लुइस, मासेर्लो, मान्हरेस, मिरांडा, फागनेर, थियागो सिल्वा.

मिडफील्डर – कैसिमीरो, फर्नाडिन्हो, फ्रेड, पॉलिन्हो, फिलिपे कोटिन्हो, रेनाटो ऑगस्तो, विलियन.

फॉरवर्ड – फिर्मिनो, गेब्रिएल जीसस, नेमार, टाइसन.

FIFA 2018: नॉक आउट मैच के लिए डेनमार्क तैयार, क्रोएशिया के खिलाफ होगा मुकाबला

टीम मेक्सिको :

गोलकीपर – जोस कोरोना, अल्फ्रेडो तलावेरा, ग्वीलमेरो ओचोआ.

डिफेंडर – हुगो अयाला, कार्लोस साल्सेडो, राफेल माक्र्वेज, हेक्टर मोरेनो, हेक्टर हरेरा, एडसन अल्वारेज.

मिडफील्डर – एरिक ग्वीटीरेज, जोनाथन डोस सांतोस, मिगुएल लायुन, गियोवानी डोस सांतोस, जेसस कोरोना, आंद्रेस ग्वारडाडो, जेवियर एक्वीनो, जेसस गेलाडरे.

फॉरवर्ड – मार्को फाबियान, राउल जिमेनेज, कार्लोस वेला, जेवियर हनार्देज, ओरिबे पेराल्टा और हिर्विग लोजानो.