वेस्टइंडीज के महान क्रिकेटर ब्रायन लारा आज यानी 2 मई को 48 साल के हो गए हैं लारा के नाम टेस्ट क्रिकेट की सबसे बड़ी पारी खेलने के साथ ही प्रथम श्रेणी क्रिकेट की भी सबसे बड़ी पारी खेलने का रिकॉर्ड दर्ज है.

उन्होंने 2004 में इंग्लैंड के खिलाफ एंटीगा टेस्ट में 400 रन की नाबाद पारी खेलकर टेस्ट क्रिकेट की सबसे बड़ी पारी खेलने का विश्व रिकॉर्ड बनाया था. उन्होंने 1994 में वारविकशायर की तरफ से डरहम के खिलाफ 501 रन की नाबाद पारी खेलते हुए प्रथम श्रेणी क्रिकेट की सबसे बड़ी पारी खेलने का रिकॉर्ड बनाया था, ये दोनों ही रिकॉर्ड अब तक कायम हैं.

लारा को क्रिकेट इतिहास के सबसे बेहतरीन बल्लेबाजों में से एक माना जाता है. उनके करियर के दौरान अक्सर ये चर्चा होती रही कि उनमें और सचिन में ज्यादा महान कौन है. लारा ने अपने करियर में 131 टेस्ट मैचों में 52.88 की औसत से 11953 रन बनाए, जिनमें 34 शतक और 48 अर्धशतक शामिल हैं, उनके नाम टेस्ट क्रिकेट में दो तिहरे शतक दर्ज हैं, एक 400 नाबाद की पारी और एक 375 रन की पारी.

लारा ने इसके अलावा अपने 299 वनडे मैचों में 40.48 की औसत से 10405 रन बनाए, इनमें 19 शतक और 63 अर्धशतक शामिल हैं.

लारा के जन्मदिन के मौके पर अपने चुटीले कॉमेंट के लिए चर्चित हो रहे क्रिकेटर वीरेंद्र सहवाग ने अनोखे अंदाज में बधाई दी और लिखा, ‘हैपी बर्थडे ब्रायन लारा. बीसी लारा क्या मारा’, दरअसल ब्रायन लारा का पूरा नाम है ब्रायन चार्ल्स लारा.