नई दिल्ली। क्रिकेट सलाहकार समिति (सीएसी) नए कोच के नाम की घोषणा करने से पहले निश्चित तौर पर विराट कोहली से बात करेगी लेकिन कप्तान को सिर्फ समिति के फैसले के पीछे का कारण बताया जाएगा और इस मामले पर उनका नजरिया नहीं लिया जाएगा. Also Read - ओलंपिक में हिस्सा लेगी भारतीय पुरुष क्रिकेट टीम!

सीएसी ने ने जिन पांच उम्मीदवारों का साक्षात्कार लिया जिसमें वीरेंद्र सहवाग, रवि शास्त्री, टॉम मूडी, रिचर्ड पाइबस और लालचंद राजपूत शामिल रहे. अनिल कुंबले के विवादास्पद हालात में इस्तीफा देने के बाद यह पद खाली हुआ है. Also Read - BCCI के सालाना कॉन्ट्रेक्ट की ए+ कैटेगरी में कोहली, रोहित और बुमराह को मिली जगह; पांडे-जाधव बाहर

आखिरी फैसला सीएसी का होगा Also Read - IPL 2021: इस सीजन मीडियो को भी नहीं मिलेगी स्‍टेडियम में एंट्री, इस तरह होगी मैच की कवरेज

इस संबंध में जानकारी रखने वाले बीसीसीआई के एक वरिष्ठ अधिकारी ने पीटीआई से कहा, एक चीज साफ कर दूं. अंतिम फैसला सीएसी का होगा, विराट कोहली का नहीं. जब सौरव ने कहा कि वह विराट से बात करेंगे तो उनका मतलब था कि उसके ब्रेक से लौटने के बाद उसे बताया जाएगा कि सीएसी को हर उम्मीदवार के बारे में क्या लगता है जिनका उन्होंने इंटरव्यू लिया और आखिर क्यों वह किसी उम्मीदवार को चुन रहे हैं.

उन्होंने कहा, विराट का नजरिया नहीं मांगा जाएगा. लेकिन कप्तान के रूप में उसे नियुक्ति के पीछे का तर्क और कारण पता होना चाहिए. इसलिए उसे जानकारी में रखा जाएगा. पता चला है कि दिन के तीन सर्वश्रेष्ठ प्रेजेंटेशन रिचर्ड पाइबस, टॉम मूडी और रवि शास्त्री ने दिए.

कुछ प्रेजेंटेशन बेहतरीन

सूत्र ने बताया, कुछ प्रेजेंटेशन बेहतरीन थे. पाइबस और मूडी विशेष रूप से कड़े सवालों के लिए काफी अच्छी तरह तैयार थे. रवि और वीरू ने भी कुछ कड़े सवालों के विस्तृत जवाब दिए. दो आधारभूत सवाल प्रत्येक उम्मीदवार से पूछे गए. उन्होंने कहा, पहला यह कि इंग्लैंड में होने वाले 2019 विश्व कप के लिए उनका क्या विजन है और दूसरा कप्तान की तुलना में कोच की भूमिका. उनसे पूछा गया कि किसी नाजुक स्थिति के सामने आने पर वे इससे कैसे निपटेंगे.