नई दिल्ली| पाकिस्तानी तेज गेंदबाज मोहम्मद आमिर और भारतीय कप्तान विराट कोहली के ऑफ़-फील्ड सौहार्दपूर्ण रिश्ते किसी से छुपे नहीं हैं. मगर मैदान में दोनों ही अपने देश को जिताने के लिए पूरी जान लगा देते हैं. इसी साल हुई चैंपियंस ट्राफी में भी यही देखने को मिला जब आमिर ने लगातार दो गेंदों पर लगभग दो बार कोहली का विकेट लिया. पहली गेंद पर फील्डर ने कैच  छोड़ दिया था मगर आमिर अगली गेंद पर कोहली को आउट करने में कामयाब रहे.

कोहली के लिये कुछ भी असंभव नहीं है: रवि शास्त्री

कोहली के लिये कुछ भी असंभव नहीं है: रवि शास्त्री

तेज गेंदबाज ने ईएसपीएन क्रिनइन्फो को बताया कि जब अजहर अली ने कैच छोड़ा तो उन्होंने सोचा कि पाकिस्तानी टीम आधा मैच हार गई है. क्योंकि कोहली को मौका देना बहुत खतरनाक होता है. आमिर ने कहा,”कैच छूटने के बाद जब मैं गेंदबाजी मार्क पर वापस लौट रहा था तब मैं सोच रहा था कि कोहली मेरी इनस्विंग गेंद के लिए तैयार होंगे. मैं उसी टप्पे से गेंद को बाहर निकलना चाहता था. अगर आप क्लिप देखेंगे तो आपको पता चल जाएगा कि कोहली मेरी गेंद को लेग-साइड में खेलने की कोशिश कर रहे थे यह सोचकर कि मैं गेंद अन्दर लाऊंगा. मैंने गेंद बहार निकली और कोहली चकमा खा गए और अपना विकेट गवां बैठे.”

उसी मैच में, पाकिस्तान के बल्लेबाज फकर जमान को जसप्रीत बुमराह ने नो बॉल पर आउट कर दिया था और फिर उन्होंने शतक जड़ा. आमिर ने कहा, “जब कोहली का कैच छूटा तब मुझे फकर जमान का शतक याद आया और मैंने उम्मीद की कि ऐसा हमारे साथ ना हो. सभी जानते है कि अगर कोहली आउट होते हैं तो इंडिया 50 परसेंट गेम से बाहर हो जाती है. वह जब तक क्रीज पर होते हैं भारतीय टीम के जितने के ज्यादा चांस होते है.”