चंद्रयान-2: भारतीय क्रिकेट टीम के मुख्य कोच रवि शास्त्री ने शनिवार को चंद्रयान -2 के बाद भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) को शुभकामनाएं दी है. भारत के चंद्रयान-2 के लैंडर विक्रम का चंद्रमा की सतह पर उतरने की प्रक्रिया के दौरान शनिवार को उससे इसरो का संपर्क टूट गया. लैंडर ‘विक्रम’ को चंद्रमा की सतह पर लाने की प्रक्रिया सामान्य देखी गई, लेकिन बाद में लैंडर का संपर्क जमीनी स्टेशन से टूट गया. इसरो की इस कोशिश को दुनिया ने बहुत सराहा. भारतीय वैज्ञानिकों के इस शानदार प्रयास को क्रिकेट की दुनिया के कई दिग्गजों ने सलाम किया. हर्षा भोगले से लेकर वीरेंद्र सहवाग ने ट्वीट कर इसरो की इस नायाब कोशिश की तारीफ की.

Chandrayaan 2: इसरो ने कहा- विक्रम लैंडर से टूटा संपर्क, कर रहे डेटा का विश्लेषण

वीरू ने ट्वीट करते हुए लिखा “ख्वाब अधूरा रहा पर हौसलें जिन्दा हैं, इसरो वो है, जहां मुश्किलें शर्मिंदा हैं. हम होंगे कामयाब”.

रवि शास्त्री ने ट्वीट करते हुए लिखा “चंद्रयान-2 लाखों भारतीय बच्चों को प्रेरित करेगा”

हाल ही में राजनीति में कदम रखने वाले पूर्व भारतीय क्रिकेटर गौतम गंभीर ने अपने ट्वीट में लिखा “हम और मजबूत होकर लौटेंगे”.

हर्षा भोगले ने लिखा “हमे इसरो पर गर्व है”

युवा बल्लेबाज ऋषभ पंत ने ट्वीट करते हुए लिखा “हम राष्ट्र की सेवा में आपकी कड़ी मेहनत और समर्पण को सलाम करते हैं”.

भारत ने चांद के दक्षिणी ध्रुव के पास तक चंद्रयान-2 मिशन (chandrayaan 2) के तहत विक्रम लैंडर (vikram lander) को पहुंचाकर इतिहास रचा है. हालांकि भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) के वैज्ञानिकों का संपर्क उससे चांद की सतह से करीब 2.1 किमी ऊपर से टूट गया. अब वैज्ञानिक उसके डाटा का विश्‍लेषण कर रहे हैं. भले ही विक्रम लैंडर का संपर्क वैज्ञानिकों से टूट गया हो, लेकिन चांद की कक्षा पर मौजूद चंद्रयान-2 ऑर्बिटर पूरे एक साल तक चांद पर शोध करेगा और उसके रहस्‍यों पर से पर्दा हटाएगा. इसका जिक्र पीएम मोदी ने शनिवार को अपने संबोधन में भी किया. इसके लिए उसमें बेहद शक्तिशाली उपकरण लगे हैं.

इसरो चीफ हुए भावुक तो पीएम मोदी ने लगा लिया गले, कुछ इस तरह दिया हौसला, देखें VIDEO

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इसरो के वैज्ञानिकों की सराहना करते हुए कहा, ‘भारत उनके साथ है’. वैज्ञानिकों ने राष्ट्रीय प्रगति में एक अविश्वसनीय योगदान दिया है”. “प्रत्येक भारतीय भावना और आत्मविश्वास से भरा होता है. हमें अपने वैज्ञानिकों पर गर्व है”.

पीएम मोदी ने वैज्ञानिकों से कहा- ‘आप कई रातों से नहीं सोए, आपको सलाम, हम चांद पर पहुंचने के इरादे से डिगे नहीं’