नई दिल्ली: आईपीएल 2018 का खिताब जीत अपने घर लौटी चेन्नई सुपर किंग्स के कोच स्टीफन फ्लेमिंग ने कहा कि घर से बाहर खेलना उनकी टीम के लिए बेहद मुश्किल भरा रहा. महेंद्र सिंह धोनी की कप्तानी वाली चेन्नई ने रविवार को मुंबई के वानखेड़े स्टेडियम में खेले गए फाइनल मैच में सनराइजर्स हैदराबाद को आठ विकेट से मात देकर तीसरी बार आईपीएल का खिताब अपने नाम किया. चेन्नई को अपने घरेलू मैच पुणे स्थानांतरित करने पड़े थे क्योंकि कर्नाटक और तमिलनाडु के बीच चल रहे कावेरी नदी के जल वितरण विवाद के कारण लोगों ने वहां प्रदर्शन करना शुरू कर दिया था और आईपीएल मैचों का विरोध किया था.

फ्लेमिंग ने चेन्नई में सोमवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा, “हमने जो रणनीति बनाई थी वो चेन्नई की परिस्थतियों को देखकर बनाई थीं, लेकिन इस तरह की चीजें हमारे हाथ में नहीं हैं.” न्यूजीलैंड टीम के पूर्व कप्तान ने कहा, “चेन्नई से बाहर जाना मुश्किल फैसला था. हम पुणे की स्थिति से वाकिफ थे. हमें हालांकि अपने खेल के तरीके में बदलाव करने पड़े.”

IPL2018: फाइनल जीत के बाद CSK के खिलाड़ियों ने जमकर की पार्टी, वीडियो हुआ वायरल

विवाद के कारण चेन्नई में सिर्फ पहला मैच की मुमकिन हो सका था इसके बाद के सारे घरेलू मैच चेन्नई ने पुणे में खेले थे. फ्लेमिंग ने कहा, “हम चेन्नई की परिस्थतियों को जानते थे. अनुभव ने हमारी मदद की. यह बड़ा बदलाव था लेकिन हमें हर हाल में खेलना ही था.”

चेन्नई ने फाइनल में शेन वॉटसन की 57 गेंदों में खेली गई 117 रनों की पारी के दम पर हैदराबाद द्वारा रखे गए 179 रनों के लक्ष्य को दो विकेट खोकर 18.3 ओवरों में हासिल कर लिया था. वॉटसन की तारीफ करते हुए फ्लेमिंग ने कहा, “वॉटसन ने जो किया वह शानदार था. हम उनके हमारे साथ भविष्य पर चर्चा कर रहे हैं. हम उन्हें अपनी टीम में चाहते हैं.”

IPL2018: फाइनल जीतने के बाद CSK के खिलाड़ियों को मिले करोड़ों रुपये, जानें किसे कितनी मिली ईनामी राशि

कोच ने कहा, “सलामी बल्लेबाजी करना और कुछ ओवर गेंदबाजी करना, वह शानदार पेशेवर खिलाड़ी हैं. वह अपना ख्याल भी अच्छे से रखते हैं.” बता दें कि चेन्नई और हैदराबाद के बीच खेले गए फाइनल मैच में हैदराबाद ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 6 विकेट खोकर 178 रन बनाए. इस दौरान केन विलियमसन ने 47 रन और यूसुफ पठान ने 45 रन की अहम पारी खेली. इसके जवाब में चेन्नई ने महज 2 विकेट खोकर मैच जीत लिया. चेन्नई की ओर से तूफानी बल्लेबाजी करते हुए शेन वॉटसन ने 57 गेंदों में 11 चौकों और 8 छक्कों की मदद से नाबाद 117 रन बनाए.