नई दिल्ली : इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) की मौजूदा चैम्पियन चेन्नई सुपर किंग्स ने लीग के अगले संस्करण से पहले तीन खिलाड़ियों को रिलीज करने की बुधवार को घोषणा की. रिलीज किए गए तीन खिलाड़ियों में इंग्लैंड के तेज गेंदबाज मार्क वुड, भारत के क्षितिज शर्मा और कनिष्क सेठ शामिल हैं. वुड को सीएसके ने ऑक्शन 2018 में 1.50 करोड़ रुपये देकर खरीदा था. उनका बेस प्राइस भी यही थी. जब कि क्षितिज और कनिष्क को 20-20 लाख में खरीदा था.Also Read - टीम मुश्किल हालात मे थी ऐसे में मुझे जिम्मेदारी उठानी थी: रुतुराज गायकवाड़

Also Read - कप्तानी छोड़ने के कोहली के फैसले पर स्टेन ने कहा- आईपीएल टीम का नेतृत्व करना दबाव भरा होता है

वुड ने पिछले सीजन में चेन्नई के लिए केवल एक मैच खेला था जबकि क्षितिज और सेठ मैदान पर नहीं उतरे थे. टीम ने पिछले सीजन के 22 खिलाड़ियों को रिटेन करने का फैसला किया है. इनमें डेविड विली भी शामिल हैं जिन्हें चोटिल केदार जाधव के स्थान पर टीम में शामिल किया गया था. दिसंबर में आईपीएल-2019 के लिए खिलाड़ियों की बोली लगनी है और उससे पहले 15 नवंबर तक सभी टीमों को अपनी रिटेंशन की सूची जमा करवानी है. Also Read - रुतुराज गायकवाड़ ने मुंबई इंडियंस के खिलाफ शानदार पारी खेली: CSK कोच स्टीफन फ्लेमिंग

IPL 2018: केकेआर ने ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी को टीम से किया बाहर, 9.40 करोड़ रुपये में लगी थी बोली

बता दें कि फ्रेंचाइजियों को 15 नवंबर तक आईपीएल संचालन परिषद को अगले महीने होने वाली 2019 खिलाड़ी नीलामी के लिए अपने रिटेन और रिलीज किये गये खिलाड़ियों की जानकारी देनी है. चोटिल ऑलराउंडर केदार जाधव के विकल्प के तौर पर चुने गए इंग्लैंड के आलराउंडर डेविड विली को टीम में बरकरार रखा गया है.

जाधव को पहले मैच में ही चोट लग गई थी और वह बाकी टूर्नामेंट में हिस्सा नहीं ले पाए थे. इस ऑलराउंडर को हालांकि टीम में बरकरार रखा गया है. वुड को सिर्फ एक मैच खेलने का मौका मिला था जबकि कनिष्क और क्षितिज एक भी मैच में नहीं खेले.

टीम इंडिया के पास ऑस्ट्रेलिया को हराने का अच्छा मौका, सौरव गांगुली ने बताई वजह

सीएसके ने कप्तान महेंद्र सिंह धोनी, सुरेश रैना, हरभजन सिंह और रविंद्र जडेजा को 2018 की नीलामी से पहले रिटेन किया था और ड्वेन ब्रावो तथा फाफ डु प्लेसिस के लिए राइट टू मैच कार्ड का इस्तेमाल किया. टीम ने न्यूजीलैंड के ऑलराउंडर मिशेल सेंटनर का विकल्प नहीं मांगा था जो चोटिल हो गए थे. सीएसके सूत्रों के अनुसार सेंटनर टीम में वापसी करेंगे. इस साल नीलामी में सीएसके के पास साढ़े आठ करोड़ रुपये होंगे इसमें छह करोड़ 50 लाख रुपये पिछले सत्र के हैं जबकि इस सत्र में अतिरिक्त दो करोड़ रुपये उपलब्ध कराए जाएंगे.