चेतेश्वर पुजारा (Cheteshwar Pujara), अजिंक्य रहाणे (Ajinkya Rahane) सहित भारतीय टेस्ट टीम के खिलाड़ियों ने डे-नाइट टेस्ट में इस्तेमाल होने वाली गुलाबी गेंद से रविवार को बैंगलुरू के चिन्नास्वामी स्टेडियम में अभ्यास किया। भारतीय टीम बांग्लादेश के खिलाफ कोलकाता के ईडन गार्डन में 22 नवंबर से अपना पहला डे-नाइट टेस्ट मैच खेलेगी।

पुजारा और रहाणे के अलावा सलामी बल्लेबाज मयंक अग्रवाल (Mayank Agarwal), ऑलराउंडर रवींद्र जडेजा(Ravindra Jadeja)  और हनुमा विहारी (Hanuma Vihari) के साथ-साथ तेज गेंदबाज मोहम्मद शमी (Mohammed Shami) और ईशांत शर्मा (Ishant Sharma) ने राष्ट्रीय क्रिकेट अकादमी (NCA) की नेट पर गुलाबी गेंद से अभ्यास किया।

ये सीनियर खिलाड़ी पिछले कुछ दिनों से एनसीए के निदेशक और पूर्व कप्तान राहुल द्रविड़ (Rahul Dravid) की देखरेख में एनसीए में अभ्यास कर रहे है। ये सभी खिलाड़ी सैयद मुश्ताक अली टी20 टूर्नामेंट में नहीं खेल रहे है।

T20I हैट्रिक जड़ने के बाद बोले दीपक चाहर- इस बारे में सपने में भी नहीं सोचा था

गुलाबी गेंद से अभ्यास से खिलाड़ियों को डे-नाइट टेस्ट में मिलनी वाली चुनौती के बारे में पता चलेगा। दूधिया रोशनी में गेंद पर नजर रखने के साथ गेंदबाजों को रिवर्स स्विंग और स्पिन पर नियंत्रण रखना चुनौतीपूर्ण होगा। कप्तान विराट कोहली भी जल्द ही टेस्ट टीम के खिलाड़ियों के साथ जुड़ेंगे।