बांग्लादेश के खिलाफ सीरीज में पहली बार डे-नाइट टेस्ट मैच खेलने को तैयार भारतीय टीम के सीनियर बल्लेबाज चेतेश्वर पुजारा (Cheteshwar Pujara) का कहना है लाल गेंद और गुलाबी गेंद से खेलने में खास फर्क नहीं है। लेकिन इसके लिए अभ्यास करना जरूरी है।

पुजारा ने आईएएनएस से बातचीत में कहा, “मुझे नहीं लगता है कि जब आप गुलाबी गेंद से खेलना शुरू करते हो तो ज्यादा कोई अंतर होता है। चूंकि मैं एसजी गुलाबी गेंद से नहीं खेला हूं इसलिए मैं पूरी तरह से आश्वस्त नहीं हूं लेकिन मुझे लगता है कि एजसी गुलाबी गेंद लाल गेंद की तरह की होगी। मुझे लगता है कि भारत में एसजी गेंद की क्वालिटी सुधरी है।”

उन्होंने कहा, “दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ खेली गई हालिया सीरीज को देखिए, गेंद ने जिस तरह से अपना आकार बनाए रखा उससे खिलाड़ी काफी खुश थे। इसलिए हम गुलाबी गेंद से भी इसी तरह की उम्मीद कर रहे हैं। हां ये लाल गेंद के मुकाबले थोड़ी अलग जरूर होगी लेकिन ज्यादा कुछ अंतर नहीं होगा।”

डे-नाइट टेस्ट से पहले अजिंक्य रहाणे, चेतेश्वर पुजारा समेत 5 भारतीय खिलाड़ियों ने गुलाबी गेंद से अभ्यास किया

बीसीसीआई ने घरेलू क्रिकेट में जब भी गुलाबी गेंद का इस्तेमाल किया है वो कुकाबुरा की रही है। वहीं कई मैचों में बीसीसीआई एसजी गेंद का इस्तेमाल भी करती है। कुकाबुरा गेंद से खेलने के अपने अनुभव के बारे में पूछे जाने पर पुजारा ने कहा कि इसके लिए उन्हें अपनी याददाशत पर जोर डालना होगा।

उन्होंने कहा, “मैं 2016-17 में खेला था जिसे अब लंबा समय हो चुका है। इसलिए इसे किसी फायदे के तौर पर नहीं देख रहा हूं। लेकिन हां, वो अनुभव मददगार जरूर होगा, इसमें कोई शक नहीं है। जब आप गुलाबी गेंद से खेलते हो तो आप जानते हो कि आपको किस समय क्या उम्मीद करनी हैं। इसलिए ये अनुभव मददगार होगा।”

पहले टेस्ट के लिए इंदौर पहुंचे भारत और बांग्लादेशी क्रिकेटर

31 साल के खिलाड़ी ने कहा, “कई बार शाम के समय में गुलाबी गेंद से खेलना चुनौतीपूर्ण होता है। आपको थोड़े बहुत अभ्यास की जरूर होती है और एक बार आप जब गुलाबी गेंद से खेलने लगते हैं तो आप इस शाम में खेलने के आदी हो जाते हैं। इसलिए ये मैच से पहले सिर्फ कुछ अभ्यास सेसन की बात है। मुझे जब भी मौका मिलेगा मैं अभ्यास करने की कोशिश करूंगा।”

बीसीसीआई के एक सीनियर अधिकारी ने आईएएनएस को बताया कि पहले टेस्ट के लिए इंदौर पहुंचे खिलाड़ियों को अभ्यास करने के लिए गुलाबी गेंद दी जाएगी। डे-नाइट टेस्ट के बारे में पुजारा ने कहा, “हमें इंतजार करना होगा और देखना होगा लेकिन इस समय ये अच्छा कदम है।”