नई दिल्ली: टीम इंडिया के शीर्ष खिलाड़ी आईपीएल में खेलेंगे. वहीं टीम के दिग्गज टेस्ट खिलाड़ी चेतेश्वर पुजारा इस दौरान भारत के इंग्लैंड दौरे की तैयारी करेंगे. पुजारा इंग्लिश काउंटी की टीम यॉर्कशर के लिए  भी खेलेंगे. फिलहाल उनका ध्यान अगस्त में इंग्लैंड के खिलाफ खेली  जाने वाली टेस्ट सीरीज की तैयारी पर है. टीम इंडिया और इंग्लैंड के बीच पांच मैचों की टेस्ट सीरीज खेली जानी है. Also Read - जन्मदिन के मौके पर जानें भारतीय स्टार ऑलराउंडर हार्दिक पांड्या के संघर्ष की कहानी

Also Read - ब्रायन लारा ने केएल राहुल और रिषभ पंत को लेकर दी ये प्रतिक्रिया, बोले-राहुल से विकेटकीपिंग ना कराए टीम इंडिया

पुजारा ने बुधवार को दिल्ली के कोटला में कहा, ‘‘मैं काउंटी सत्र में अच्छा करने की कोशिश करूंगा क्योंकि हम अगस्त में टेस्ट मैच खेलेंगे. 2015 में मैं यॉर्कशर के साथ था जब हमने काउंटी चैम्पियनशिप जीती थी. यह शानदार टीम है जिसमें काफी अच्छे पेशेवर क्रिकेटर मौजूद हैं. जिससे मुझे बेहतर क्रिकेटर बनने में मदद मिली.” Also Read - Happy Birthday Zaheer Khan: भारत के लिए सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले दूसरे पेसर हैं जहीर खान, 'नकल बॉल' की कर चुके हैं खोज

भज्जी ने धोनी को बताया महान कप्तान, 10 साल बाद मुंबई का साथ छोड़ने पर दिया ये बयान

पुजारा के अनुसार काउंटी क्रिकेट में सबसे फायेदमंद चीज भारत के दौरे के टेस्ट स्थलों पर खेलना होगा जिससे उन्हें पिच और हालात के बारे में अच्छी जानकारी मिल जायेगी. पुजारा ने कहा, ”इंग्लैंड के गर्मी के सत्र के शुरू में हेडिंग्ले में खेलने से किसी भी बल्लेबाज की तकनीक और जज्बे का परीक्षण होगा क्योंकि तब तापमान चार या छह डिग्री होता है. यहां तक कि 50 रन बनाना भी मुश्किल होगा. लेकिन जब भारत दौरा शुरू होगा तो यह ज्यादा खुशगवार हो जायेगा.

उन्होंने कहा, ”डिविजन एक में खेलने के अपने फायदे हैं. मैं लाड्र्स में मिडिलसेक्स, बर्मिंघम में वारविकशर और ओवल में सर्रे के खिलाफ उनके मैदान पर खेलूंगा जहां भारतीय टीम भी टेस्ट मैच खेलेगी. इसलिये मुझे पिचों और हालात का अच्छी तरह पता चल जायेगा.”

‘बड़े-बड़े बल्लेबाजों को देखा, कोहली सा ना कोय’, गांगुली का ‘विराट’ बयान

पुजारा का मानना है कि तकनीक के हिसाब से दक्षिण अफ्रीका से इंग्लैंड में खेलने में ज्यादा फर्क नहीं है. उन्होंने कहा, ”बेसिक्स समान ही रहहेगी लेकिन मुख्य चीज हालात के हिसाब से अच्छा करना होगा। तकनीकी रूप से यह लगभग समान ही होगा.” (एजेंसी इनपुट के साथ)